बेरोजगारी से परेशान युवाओं ने PM मोदी को भेजी खून से लिखी चिट्ठी

600


देहरादून: बीपीएड-एमपीएड प्रशिक्षित बेरोजगारों ने नियुक्ति की मांग के समर्थन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खून से लिखी चिट्ठी भेजी है। इसके साथ ही भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय खेल मंत्री को भी खून से लिखी चिट्टी भेजी गई है।

बेरोेजगारों ने पत्र में लिखा है कि प्रशिक्षण वर्ष-2008 से नियुक्त को लेकर आंदोलित हैं। दस साल से उनकी मांग को लेकर राज्य सरकारें गंभीर नहीं रहीं। कई प्रशिक्षित बेरोजगार सरकारी नियुक्ति की आयुसीमा भी पार कर चुके हैं। 

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने धरना स्थल पर आकर आश्वासन दिया था कि उनको नियुक्ति दी जाएगी। इसके बावजूद भाजपा सरकार भी उनकी अनदेखी कर रही है। बीपीएड-एमपीएड प्रशिक्षित बेरोजगर संगठन के प्रदेश अध्यक्ष जगदीश चंद्र पांडे ने कहा कि बीपीएड प्रशिक्षित बीएड के समकक्ष हैं। 

पूर्व में भी बीपीएड प्रशिक्षितों को विशिष्ट बीटीसी का प्रशिक्षण का देकर प्राथमिक विद्यालयों में नियुक्ति दी गई है। प्रशिक्षितों की मांग है कि उन्हें पूर्व प्रशिक्षितों की भांति नियुक्ति प्रदान की जाए। 

इस बीच सोमवार को धरना देने वालों में प्रदेश संयोजक देवेंद्र कोरंगा, प्रदेश सचिव अब्बल सिंह राणा, प्रदेश प्रवक्ता मनोज असवाल, आलोक नैथानी, कमल रावत, देवेंद्र खोलिया, कमल रावत, बीएल सकलानी, पल्लवी कुकरेती, परीक्षा सकलानी आदि मौजूद थे।

बेरोजगारों की मांगें

प्रत्येक उच्च प्राथमिक विद्यालय में व्यायाम शिक्षक नियुक्ति वर्षवार वरिष्ठता क्रम में की जाए।

प्रत्येक शासकीय व अशासकीय इंटर कॉलेज में व्यायाम प्रवक्ता का पद सृजित किया जाए।

कक्षा छह से 12वीं शारीरिक शिक्षा अनिवार्य हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here