पार्षद मोहम्मद हुसैन को आम आदमी पार्टी ने दिया कोटा उत्तर विधानसभा से टिकट

877
कोटा. प्रदेश में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी ने रविवार को तीसरी सूची जारी कर दी। इसी सूची में राजस्थान से 10 नाम ओर घोषित किये है। इन 10 नामों को मिलाकर प्रदेश में आम आदमी पार्टी के घोषित उम्मीदवारों की कुल संख्या 27 हो गयी है। कोटा उत्तर विधानसभा से आम आदमी पार्टी ने उदयमान समाजसेवी और निडर युवा नेता पार्षद एवं प्रदेश स्तरिय आप प्रवक्ता मोहम्मद हुसैन को टिकट दिया है। मोहम्मद हुसैन के नाम की घोषणा होते ही हुसैन के समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ पडी। मोहम्मद हुसैन को बधाई देने के लिए उनके निवास पर सोमवार के सुबह से ही लोगों का तांता लगा रहा।
इस मौके पर हुसैन ने कहा कि यदि मन में संकल्प हो, वाणी और विचारों पर समन्वय हो, सामाजिक दृष्टिकोण हो, पारस्परिक सद्भाव हो, लक्ष्य प्राप्ति का मिशन हो और जीवन का साध्य हो तो निश्चित रूप से हमेशा परिणाम आपको सफलता दिलाते है। इसी को ध्येय मानते हुये मैं निरंतर आम आदमी पार्टी के लिए अग्रसर रहा हूं। आप पार्टी के आलाकमान ने मुझ पर जो विश्वास जताया है, उस पर मैं पूरी तरह से खरा उतरूंगा. हुसैन ने कहा कि हम राजनीति में कैरियर बनाने नही, बल्कि राजनीति को बदलने आये हैं।

मोहम्मद हुसैन का सामाजिक व राजनैतिक जीवन परिचय…

आम जन की जन समस्याओं के निराकरण के लिए हमेशा प्रयत्नशील रहने वाले मोहम्मद हुसैन की बहुत सारी उपलब्धियां ऐसी जो हर किसी को नजर नहीं आती, किन्तु जिस परिवार का काम होने से भला होता है तो वह हमेशा ऋणी हो जाता है। आज भी ऐसे बहुत से परिवार है जिनको सरकारी जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी नहीं होती, ना ही उन्हें आधार कार्ड, भामाशाह कार्ड, राशनकार्ड और वोटर कार्ड बनवाने का क्या तरीका है, इसकी पूर्ण जानकारी होती है। इन कामों को वही व्यक्ति करा सकता है जिसे इन कामों की पूर्ण और सटिक जानकारी हो। समय निकालकर महकमें में कैसे काम होते है, अनजान व नये लोगो को सरकारी विभाग चैकड़ी भुला देता है। ऐसे लोगो की मदद के लिए हुसैन ने अपने कार्यालय पर अपनी पूरी टीम लगा रखी है। जिससे कि किसी आमजन को जानकारी के अभाव में सरकारी योजनाओं से वंचित ना होना पड़ै।

लड़ रहा हुं में, हार की चिन्ता नहीं है। चल पड़ा जिस राह पर, संसार की चिंता नहीं है….

मोहम्मद हुसैन ने साक्षर तक शिक्षा सरकारी स्कूल में प्राप्त की हुसैन का जन्म 27 नवम्बर 1979 को साधारण परिवार में वालिद समसुदिन के घर हुआ. वालिदा महरूनिशा पेशे से गृहिणी है। हुसैन के परिवार में पांच भाई और दो बहन है। हुसैन पहले राजनीतिक पार्टी ‘कांग्रेस’ से जुड़े हुए थे, साल 2013 के चुनाव में कांग्रेस पार्टी से टिकट की दावेदारी की थी। हुसैन के बताये मुताबिक कांग्रेस पार्टी ने टिकट के पैसे मांगे, जिससे आहत होकर उन्होने अपनी टीम और समर्थकों के आग्रह पर कांग्रेस पार्टी छोड़ दी। और साल 2013 में राजनीतिक दल “आम आदमी पार्टी” में साधारण सदस्य के रूप में पार्टी की सदस्यता ली।
आप पार्टी के सदस्य बाद हमेशा निस्वार्थ व निरंतर कार्य करने पर 2014 में पार्टी ने लोकसभा चुनाव के समय हुसैन को कोटा-बून्दी लोकसभा में प्रवक्ता नियुक्त किया गया। हुसैन ने साल 2014 के अन्त में कोटा नगर निगम के चुनाव में पार्टी से पार्षद का चुनाव लड़ने की इच्छा जताई, लेकिन आप पार्टी ने राजस्थान में निकाय चुनाव नहीं लड़ाया, और निकाय चुनाव में हुसैन को निर्दलीय लड़ने की अनुमति दे दी। निकाय चुनाव में हुसैन आम आदमी पार्टी का चेहरा बनकर उभरे जनता ने हुसैन के कामों पर मोहर लगाकर कांग्रेस प्रत्याशी की जमानत जब्त करवादी व बीजेपी प्रत्याशी को 700 मतों के लम्बे अन्तर से हराकर हुसैन विजयी बने।

अपनी सामाजिक सेवाओं का काम हुसैन ने “मिस कॉल” नाम क्यों रखा…

हुसैन द्वारा किये कामों से आज आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं की कार्यशौली से सरकारी विभाग में खौफ है तो इस कारण से आज आम आदमियों के काम में भी ज्यादा से ज्यादा राहत मिल रही है। इस पर हुसैन ने बताया कि एक बार में मेरी शॉप पर बैठा था, तभी एक पुलिस वाला आया, जीन्स व जूते लिये और बिना भुगतान किये चलने लगा तो मैंने सामान के पैसे मांगे तो पहले तो मुझे बदतमीजी करने लगा और बाद में उन्हें झुठे मुकदमे में थाने ले जाकर बंद कर दिया। तब सोचा की मेरे जैसे न जाने कितने पीड़ित होंगे, जिन्हें सरकारी अफसरशाही की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। लोग अपने ठीये पर भी सुरक्षित नहीं है। इसलिए उन्होने “मिस्ड कॉल सेवा” शुरू की गई थी, जिसपर आज अगर किसी का भी फोन आता है और एक घंटी देकर बंद करता है, तो हम उससे संपर्क कर और समस्या का समाधान करवाते है।

समाजिक सरोकार…

वीआईपी क्लचर समाप्त करने और अवैध लालबत्ती हटाने के लिए आंदोलन किया, जिसमें कई दिनों के लिए जेल भी जाना पड़ा, और अंत में उनका परिश्रम काम आया और आज देखों पूरे भारत देश में लाल बत्ती हटा दी गई है। वाल्मिकी समाज के अस्थाई सफाई कर्मचारीयों को उनके मासिक वेतन का भुगतान खाते में दिलाने के लिए कोटा नगर निगम के बाहर 9 दिन तक भूख हड़ताल की। जिसका नतीजा कोटा सहित राजस्थान प्रदेशभर के अस्थाई सफाई कर्मचारियों का समय पर भूगतान उनके खाते में होने लगा, जिससे नगद भुगतान में होने वाले घोटालों पर रोक लग सकी।
नगर निगम की गौशाला से 3115 लापता गायों का मुद्दा बड़े जोर-शोर से उठाया, जिससे निगम गौशाला से पकड़ी गयी गायों की हेराफेरी के मामले का खुलासा हुआ। इसी तरह समय समय पर कई राशन घोटालों का खुलासा किया, जिससे कई घोटालेबाज राशन डीलरों को जेल जाना पड़ा। ऐसे जनहित से जुड़े सैकड़ो मुद्दे समय-समय पर उठाकर हुसैन ने लोगो के दिलो में जगह बनाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here