मृत मरीज के ऑपरेशन को PM मोदी ने बताया कामयाब: सिसोदिया

710

आम आदमी पार्टी (आप) ने अर्थव्यवस्था को मजबूत बताने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दावों को गलत करार देते हुए आज कहा कि वह उस चिकित्सक की तरह बात कर रहे हैं जिसका मरीज मौत की कगार पर है और वह मरीज के ऑपरेशन को कामयाब बताता है।

आप नेता और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केन्द्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए यहां संवाददाताओं से कहा कि देश की बिगड़ती अर्थव्यवस्था को दुरुस्त करने के लिये मोदी अपने द्वारा किये गये ‘ऑपरेशन’ को सफल बता रहे है लेकिन हकीकत तो यह है कि मरीज की मौत हो चुकी है। उन्होंने कहा कि मोदी ने कल देश की अर्थव्यवस्था की मौजूदा हालत पर विस्तृत बयान दिया। लेकिन इसमें उन्होंने बिगड़ती आर्थिक व्यवस्था को पटरी पर लाने का कोई तरीका नहीं बताया। मोदी ने ना ही सकल घरेलू उत्पाद घटने, रोजगार सृजन के बजाय नौकरियां छूटने सहित अन्य गंभीर समस्याओं की कोई वजह बतायी।

सिसोदिया ने कहा कि हकीकत तो यह है कि बाजार में संपत्ति से लेकर सब्जी तक मंदी है, उद्योग-धन्दे चोपट होकर बंद हो रहे हैं, लाखों लोगों की नौकरियां चली गयीं, खेती और किसान बदहाली के भंवर में फंसे हैं। इन सबके बावजूद मोदी अपनी पीठ थपथपा रहे हैं।

आप नेता ने दलील दी कि प्रधानमंत्री ने कहा है कि जीडीपी केवल एक तिमाही में ही घटा है, जबकि यह सर्वविदित है कि पिछली 6 तिमाहियों से लगातार विकास दर नीचे जा रही है। इतना ही नहीं अगर मोदी कहते हैं कि यह मामूली गिरावट है तो भी यह गलत हैं। निश्चित रूप से उन्हें पता है कि 1 प्रतिशत की जीडीपी विकास दर घटने का अर्थ 1.5लाख करोड़ रुपये की राष्ट्रीय आय का नुकसान और लाखों नौकरियों खत्म होना है।

उन्होंने कहा कि आर्थिक संकट के समय बिगड़ती अर्थव्यवस्था के वास्तविक कारणों को पहचानना और इनके उपाय लागू करना ही सरकार की जिम्मेदारी होती है। लेकिन प्रधानमंत्री कारगर उपाय करने में नाकाम रहे। सिसोदिया ने कहा कि मोदी ने यह भी नहीं बताया कि निजी निवेश पिछले 25 वर्षों की तुलना में निम्नतम स्तर पर क्यों आ गया। उन्होंने कहा कि “मोदी के वक्तव्य का मतलब साफ है कि वह अर्थव्यवस्था के अपने ऑपरेशन को भले ही सफल बतायें लेकिन सच्चाई यह है कि मरीज मर चुका है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here