बिना ठोस सबूत आप विधायक हिरासत में, लेकिन CCTV सबूत के बावजूद अपराधी खुले में

1444

दिल्ली के प्रधान सचिव कि कथित पिटाई के मामले में दिल्ली कि आम आदमी पार्टी के दो विधायक प्रकाश और अमानत को दिल्ली पुलिस ने कल गिरफ्तार कर के कोर्ट में पेश किया था जहा पुलिस कि अपील को ठुकराते हुए कोर्ट ने दोनों विधायको को न्यायिक हिरासत में भेज दिया था |

लेकिन दिल्ली सचिवालय में दिल्ली सरकार के मंत्री इमरान हुसैन, उनके सचिव हिमांशु और DDC के अध्यक्ष आशीष खेतान के साथ हुई मारपीट के मामले में दिल्ली पुलिस ने अभी तक कोई कारवाई नही करी है |

एमएलसी रिपोर्ट में साबित हुई पिटाई

मंत्री और उनके सचिव कि पिटाई लोकनायक अस्पताल कि मेडिकल रिपोर्ट में साबित हो गयी है लेकिन दिल्ली पुलिस ने फिर भी कोई कारवाई शुरू नही कि है |

 Himanshu, APS, Minister Imran Hussain

CCTV में कैद एक एक आरोपी

आपको बता दें कि दिल्ली सचिवालय में हुई मारपीट वहां लगे cctv कैमरे में कैद हो गयी थी, और कैमरा में साफ़ साफ़ एक एक आरोपी को पहचाना जा सकता है लेकिन बावजूद इसके पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है और वहीं दूसरी और बिना किसी ठोस सबूत के प्रधान सचिव के पत्र के आधार पर ही दिल्ली पुलिस ने जनप्रतिनिधियों को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है |

Watch Full Video : https://twitter.com/DaaruBaazMehta/status/966594404361342977

साफ़ देखा जा सकता है कि दिल्ली पुलिस हमेशा के तरह इस बार भी एक पक्ष का साथ देकर कारवाई कर रही है, वरना सबूत होते हुए भी आरोपियों को गिरफ्तार न करना कैसे जायज हो सकता है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here