AAP के CYSS की जोरदार एंट्री, NSUI-ABVP का बुरा हाल, छात्र राजनीति ही बड़ी राजनीति की शुरुआत है: कुमार विश्वास

942
नई दिल्ली। दिल्ली की आम आदमी पार्टी अब सिर्फ राजधानी तक ही सीमित नहीं है, वो और राज्यों में भी खुद को फैलाने की कोशिश कर रही है। दिल्ली और पंजाब के बाद आम आदमी पार्टी ने राजस्थान में धमाकेदार एंट्री दर्ज की है। दिल्ली में बीजेपी-कॉन्ग्रेस को बुरी तरह से चित करने के बाद और पंजाब में बीजेपी-अकाली के बुरी तरह से होश उड़ाने वाली आम आदमी पार्टी दिल्ली से बाहर निकलने में कामयाब हुई और अब राजस्थान प्रदेश में राजनैतिक दलों के होश उड़ाते हुए, राजस्थान प्रदेश की राजनीति में ऐसी शानदार एंट्री दज की है कि जिसकी उम्मीद ना तो भाजपा ने की होगी और ना ही कांग्रेस ने की होगी।

कुमार को कमान सौंपने के बाद विश्वास भी सामने….

      राजस्थान में आम आदमी पार्टी भले ही अपनी बहुत पकड़ अभी तक बना पाने में नाकाम रही हो लेकिन कुमार विश्वास को राजस्थान की कमान सौंपने के बाद इसकी जमीनी हकीकत भी सामने आने लगी। अब ‘आप’ पार्टी ने बीजेपी शासित एक और राज्य में कदम रखा है इतना ही नहीं कदम रखते ही ‘आप’ ने यहां जीत का परचम भी लहराया। दरअसल हाल ही में राजस्थान में सम्पन्न हुए छात्र संघ चुनाव में प्रदेश भर की कई यूनिवर्सिटी में आम आदमी पार्टी की स्टूडेंट विंग छात्र युवा संघर्ष समिति ने ऐतिहासिक शानदार जीत दर्ज की है।

छात्रसंघ चुनाव: AAP के CYSS की जोरदार एंट्री, ABVP का बुरा हाल….

     प्रदेशभर में छात्र राजनीति के जरिए मिली इस जीत के बाद जहां आम आदमी पार्टी के हौसले बुलंद नजर आ रहे हैं तो वही आम आदमी पार्टी के राजस्थान पर्यवेक्षक और वरिष्ठ नेता डॉक्टर कुमार विश्वास ने उन पर उंगली उठाने वाले विरोधियों को अपनी पहली चाल में ही चित कर करारा जवाब दिया है। छात्रसंघ चुनाव में आप छात्र विंग CYSS को ज़बरदस्त सफ़लता मिली है CYSS के 48 उम्मीदवार विभिन्न पदों पर चुनाव जीत चुके हैं जिनमें 12 अध्यक्ष पद पर चुने गए हैं इसके अलावा कई कॉलेजों में उपाध्यक्ष और महासचिव के पद CYSS के उम्मीदवार चुने गए। खबरों के मुताबिक प्रदेश भर में सम्पन्न हुए छात्रसंघ चुनावों में करीबन 12 जगहों पर सीवाईएसएस के उम्मीदवारों ने अध्यक्ष पद पर जीत दर्ज की है। और इनके अलावा कई कॉलेजों में उपाध्यक्ष, महासचिव और सयुक्त सचिव के पद पर भी जीत दर्द की है।

जमीनी हकीकत ‘आज तुम लूटो कल हम लूटेंगे’ भी सामने……….

कहां जाता है कि छात्र राजनीति से ही चलकर आगे बड़ी राजनीति का रूप लेती है। इसलिए आम आदमी पार्टी के लिए इस जीत को छोटा नहीं माना जा सकता, क्योंकि यह जीत आम आदमी पार्टी के लिए अहम है, तो वहीं भारतीय जनता पार्टी और इंडियन नेशनल कांग्रेस के होश उड़ने वाली खबर है कि राजस्थान प्रदेश में अगले साल 2018 में विधानसभा चुनाव होने हैं। और राजस्थान में पिछले कई वर्षों के रिकॉर्ड उठाकर देखें तो प्रदेश में 1 बार बीजेपी और एक बार कांग्रेस सत्ता(सरकार) में आती रही है यानी “आज तुम लूटो कल हम लूटेंगे” वाली कहावत फिट नजराती हैं।
           इस बात से यह कहा जा सकता है कि जनता के पास सुनने के लिए और कोई विकल्प नहीं है। इसीलिए मजबूरन वहां की जनता को इन दोनों में से ही किसी एक पार्टी को बारी-बारी से चुनकर वोट देना पड़ता है लेकिन प्रदेश भर में आम आदमी पार्टी को छात्र राजनीति में मिली इस बंपर जीत के बाद आम आदमी पार्टी अगले साल वहां होने वाले चुनाव में हिस्सा लेती है तो जनता के पास आम आदमी पार्टी का एक बेहतर विकल्प होगा। और अब देखना यह होगा कि इस जीत के बाद अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में  हिस्सा लेती है या नहीं, साथ ही भाजपा और कांग्रेस का भी इस पर पूरी नजर रहेगी कि आम आदमी पार्टी प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों में हिस्सा लगी या नहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here