कम्प्यूटर की पढ़ाई के लिए नही करना पडेगा इंतजार, सरकारी स्कूलों के बच्चे भी लेंगे हाईटेक ज्ञान

448

जयपुर. जिले के सरकारी विद्यालयों के विद्यार्थी भी अब निजी विद्यालयों की तर्ज पर जल्द ही कम्प्यूटर चलाते नजर आएंगे। कम्प्यूटर की पढ़ाई के लिए उन्हें अब बडी क्लास या कॉलेज जाने का इंतजार नहीं करना पडेगा। पिछले वर्ष शुरू की गई क्लिक योजना में इस बार सरकार ने संशोधन किया है। इसमें राजस्थान नॉलेज कॉपरेशन लिमिटेड (आरकेसीएल) के माध्यम से बच्चों को कम्प्यूटर शिक्षा देने का प्रयास किया जा रहा है। डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करने के लिए यह योजना शुरू की गई है। योजना के तहत कक्षा 6 से 10 तक कम से कम 100 बच्चों का नामांकन जरूरी है। कक्षा 6 से 8 तक 80 रुपए तथा 9 से 10 तक के विद्यार्थियों को 110 रुपए प्रति माह देना होगा। सिरोही में यह योजना उसी स्कूल में शुरू होगी जहां कम्प्यूटर लैब है। लैब बनवाने का प्रयास भी किया जा रहा है।

बताएंगे लाभ…

इस योजना में पंजीकृत विद्यार्थियों के पाठ्यक्रम पूरा करने तथा शुल्क जमा करने वाले विद्यार्थियों को आरकेसीएल की ओर से प्रमाण पत्र दिया जाएगा। शैक्षणिक सत्र 2018-19 के लिए विद्यार्थियों का रजिस्ट्रेशन 30 सितंबर तक करवाया जा सकेगा। आईसीटी, भामाशाह, सांसद एवं विद्यायक क्षेत्रीय विकास योजना या विद्यालय विकास कोष के माध्यम से उपलब्ध कम्प्यूटर व संसाधनों से लैब स्थापित होगी।

इनमें योजना लागू होगी…

सत्र 2018-19 में क्लिक योजना सभी आइसीटी लैब युक्त विद्यालयों में शुरू की जानी है। इसके लिए आरकेसीएल से शीघ्र एमओयू किया जाएगा। आकेसीएल से अधिकृत कम्प्यूटर सेंटर को अधिकृत किया गया है। सिरोही जिले में पिछले वर्ष 24 विद्यालयों के साथ एमओयू किया था। जिले में 222 विद्यालय है। इसमें 190 में आइसीटी लैब है। रमसा के एडीपीसी श्री अशोक व्यास ने बताया कि डिजिटल इंडिया के तहत हर बच्चे को कम्प्यूटर ज्ञान होना अनिवार्य है, ऐसे में क्लिक योजना में संशोधन कर बच्चों को मामूली राशि में कम्प्यूटर सिखाया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here