नियम है तो सिर्फ ऑटो चालकों पर क्यों, सभी वाहन चालकों पर हो लागु: मोहम्मद हुसैन

1100

कोटा। यातायात पुलिस द्वारा ऑटो चालकों के गले में आईडी पहनना अनिवार्य करने के फरमान को आम आदमी पार्टी नेता एवं पार्षद मोहम्मद हुसैन ने तुगलकी फरमान बताया है। हुसैन ने कहा कि हरेक ऑटो चालक के पास परिवहन विभाग द्वारा जारी लाइसेंस ही उसकी असली पहचान की आईडी होती है। इसके बाद भी अलग से आईडी बनवाकर उनके गले में पहनाना अनुचित है और मोटर एक्ट में भी कही ऐसा कोई प्रावधान नहीं है कि किसी ऑटो चालक को गले में आईडी पहननी होगी। अगर नियम है तो सिर्फ ऑटो चालक पर क्यों हरेक श्रेणी के वाहन चालकों पर भी लागु होना चाहिए।

ऑटो चालकों की मांग लेकर 28 मई (सोमवार) को आप नेता पार्षद मोहम्मद हुसैन ने “एकता ऑटो चालक मालिक यूनियन” के कार्यवाहक अध्यक्ष भगवान सिंह की अगुवाई में ऑटो चालकों के एक प्रतिनिधिमंडल ने यातयात उपाधीक्षक श्योराजमल मीणा से मिलकर ज्ञापन सौपा। भगवान सिंह ने बताया की ऑटो चालकों से पांच वर्ष पहले चरित्र प्रमाण पत्र के सत्यापन का फार्म यातयात पुलिस ने भरवाया था। जिसका सत्यापन हर स्थानीय थाने पर हुआ था, पर यातयात पुलिस ने चरित्र प्रमाण-पत्र अब तक जारी नहीं किये। इसी तरह परिवहन विभाग में भी कई वर्षों से ऑटो चालकों के बेच जारी नहीं किये और कुछ दिन पहले सभी ऑटो पर ड्राइवर सिट के पीछे चालक और मालिक की सभी जानकारी लिखवाई गई है, फिर अब गले में आईडी पहनने का नियम लागु करने की कोशिश की जा रही है जो गलत है।

हुसैन ने कहा की यातायात विभाग और परिवहन विभाग अपने बनाये नियमों को पूरी तरह से फॉलो भी नहीं कर पाता, और उससे पहले ही फिर से नए नियम सिर्फ ऑटो चालकों पर लागू कर दिए जाते है। अगर यह ऐसे ही चलता रहा तो ऑटो वालों को मजबूरन हड़ताल की ओर कदम बढ़ाना पड़ेगा। जिसकी जिम्मेदारी यातयात एंव परिवहन विभाग की होगी। ज्ञापन देने वाले प्रतिनिधिमंडल में हुसैन मामू, योगेश सिंह, गजेंद्र मीणा, अकिल अहमद और अर्फिन खान समेत कई ऑटो चालक और आप कार्यकर्त्ता मोजूद रहे।

Also Read: मैं विधायक बना तो विधानसभा में, हार गया तो सड़कों पर, जनता की आवाज उठाता रहूँगा~ मोहम्मद हुसैन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here