दिल्ली: DASS एसोसिएशन ने बताया ट्रांसपोर्ट कर्मचारी फोरम को फर्जी, सरकार का किया समर्थन

''ट्रांसपोर्ट विभाग खासकर बुराड़ी यदि करप्शन फ्री है, तो मान लीजिए दुनिया ही करप्शन फ्री हो गई है। तथाकथित जॉइंट फोरम में कौन पदाधिकारी है ? लिखा नही है, हमे मालूम भी नही है, लेक़िन यह फेक फोरम लगता है। ट्रांसपोर्ट में एक्स केडर एम एल ओ ही सर्वे सर्वा है, इनका ही एक क्षत्र राज है।

307

दिल्ली : दिल्ली में अफसरों और नेताओ की बीच की जंग पहले से ही चली आ रही है, हाल ही में आये सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने सब कुछ साफ़ कर दिया था लेकिन फिर भी केंद्र सरकार ने और उप राज्यपाल ने सर्विसेज को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को मानने से इनकार कर दिया था, जिसकी वजह से विवाद खत्म नही हो चूका |

क्या है मामला , पढिये

ताजा मामला है दिल्ली के परिवहन मंत्री ADVOCATE कैलाश गहलोत को लेकर, दरअसल ट्रांसपोर्ट विभाग की सचिव वर्षा जोशी ने आरोप लगाया है कि मंत्री ने उनके साथ मौखिक बदसलूकी की है और 30 कर्मचारियों के सामने उन्हें बेइज्जत किया है |

दिल्ली: परिवहन विभाग के अधिकारियों की मांग, IAS वर्षा जोशी से माफ़ी मांगें कैलाश गहलोत

दरअसल, दिल्ली में चुनी हुई सरकार के मंत्री और IAS अफसरों के बीच टकराव खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. ताज़ा मामला है दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत और परिवहन सचिव (परिवहन आयुक्त) वर्षा जोशी के बीच हुई गर्मागर्म बहस का है. दरअसल दिल्ली विधानसभा का सत्र 6 अगस्त से शुरू हो रहा है और उससे पहले विधायकों ने जो सवाल पूछे हैं उसपर जवाबों को अंतिम रूप देने के लिए दिल्ली सचिवालय में एक शुक्रवार 3 अगस्त को एक बैठक बुलाई गई. विपक्ष के एक विधायक ने सवाल पूछा था ‘क्या बुराड़ी ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी में मुख्यमंत्री के इंस्पेक्शन के दौरान कोई अनियमितता पाई गई?’ जवाब में परिवहन आयुक्त ने लिखा- ‘नहीं’. इसपर परिवहन मंत्री कैलाश ने कहा कि ‘वहां दलालों के घूमने और बिना पैसे दिए काम ना हो पाने की बात लिखी जानी चाहिए’.

बैठक में मौजूद रहे वरिष्ठ अफसरों ने बताया कि परिवहन मंत्री की बात का जवाब देते हुए 1995 बैच की IAS अधिकारी वर्षा जोशी ने कहा ‘बुराड़ी में जब मुख्यमंत्री आये थे तो वहां कुछ नहीं था, केवल ये बोल देने से काम नहीं होगा कि सब भ्रष्ट हैं’ लेकिन कैलाश गहलोत ने लगातार ये बात लिखने को कहा कि बुराड़ी में अनियमितता पाई गई. लेकिन जब परिवहन आयुक्त नहीं मानी तो कैलाश गहलोत ने कहा -‘मुझे मत सिखाओ. करप्शन में तुमको पकड़वा दूंगा’ जिसके जवाब में परिवहन आयुक्त वर्षा जोशी ने कहा ‘चलिए देखते हैं, मैं क्या भ्रष्ट हूँ?’. इसके गर्मागर्म बहस के बाद परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत बैठक छोड़कर चले गए.

क्या है आरोप, किसने क्या कहा

इस मामले को लेकर एक ट्रांसपोर्ट विभाग के कर्मचारिओं की एक कथित फोरम ने मेमोरेंडम भी जारी किया है और उसमे वैसी ही मांगे दोबारा दोहराई है जैसे आईएएस अफसरों के साथ हुए विवाद में दोहराई गयी थी | दिल्ली सरकार के परिवहन विभाग के अफसरों ने परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत से मांग की है कि वो तुरंत परिवहन आयुक्त वर्षा जोशी को बिना गलती के अपमानित करने के लिए माफ़ी मांगें.

कौन है ट्रांसपोर्ट कर्मचारी फोरम का पदाधिकारी, कहा पंजीक्रत है ये – DASS संघ प्रधान डी एन सिंह ने पूछा ??

इसी बीच ताज़ा घटनाक्रम ये है कि – दिल्ली के अधीनस्थ कर्मचारियों के संघ – DASS के प्रधान डी.एन सिंह ने ट्रांसपोर्ट विभाग कर्मचारी फोरम को ही फर्जी बता दिया है, उन्होंने सवाल किया है कि ये फोरम कहा से पंजीक्रत है और इसके पदाधिकारी कौन है ??

दिल्ली के DASS एसोसिएशन के ऑफिसियल ट्विटर अकाउंट से भी अपने प्रधान डी एन सिंह के ट्वीट को QUOTE किया गया है |

अपने एक दुसरे ट्वीट में डी एन सिंह ने लिखा कि – ”ट्रांसपोर्ट विभाग खासकर बुराड़ी यदि करप्शन फ्री है, तो मान लीजिए दुनिया ही करप्शन फ्री हो गई है। तथाकथित जॉइंट फोरम में कौन पदाधिकारी है ? लिखा नही है, हमे मालूम भी नही है, लेक़िन यह फेक फोरम लगता है। ट्रांसपोर्ट में एक्स केडर एम एल ओ ही सर्वे सर्वा है, इनका ही एक क्षत्र राज है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here