राजस्थान विधानसभा: प्रदेश में उपखंड मुख्यालयों पर महिला थाने खोलने की उठी मांग

विधानसभा में इन दिनों बजट स्तर चल रहा है जिसमे पीलीबंगा एमएलए द्रोपदी मेघवाल ने महिला अपराधों को लेकर उपखण्ड मुख्यालय पर महिला ठाणे खोलने की गुहार लगाई, तो मंत्री गुलाबचंद ने इसके लिए इंकार किया और महिला अपराधों में कमी बताई......

905

जयपुर। राजस्थान प्रदेश भर के उपखंड मुख्यालयों पर बढ़ते महिलाओं पर बढ़ते अपराधों विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान हनुमानगढ़ की पीलीबंगा विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी विधायक द्रोपदी मेघवाल द्वारा महिला थाने खोले जाने की जरूरत को लेकर मामला उठाया गया। मेघवाल ने कहा कि उपखंड मुख्यालयों पर महिलाओं से छेड़छाड़ के मामले में बढ़ोतरी दिनों दिन हो रही है। ऐसे में हर उपखंड मुख्यालयों पर महिला थाने खोले जाए तो ऐसे महिला अपराधों में कमी आएगी।

थाने खोलने का औचित्य नहीं…..

मेघवाल के सवाल का जवाब देते हुए गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि पिछले दिनों आये आंकड़ों के अनुसार प्रदेश में महिला अपराधों में 12 फीसदी की कमी आई है। ऐसे में प्रत्येक उपखंड मुख्यालय पर महिला थाना खोलने अभी का कोई औचित्य नहीं है। जबकि मंत्री कटारिया ने यह जरुर माना कि कोटा सहित प्रदेश के सिर्फ पांच जिलों में ही महिला अपराध के मामले ज्यादा हो रहे है।

महिला प्रतिनिधित्व…..

वहीं पूरक सवाल करते हुए एमएलए द्रोपदी मेघवाल ने सभी थानों में महिलाओं को ज्यादा से ज्यादा सीएलजी मेंबर बनाने की भी मांग रही, जिस पर कटारिया ने महिलाओं को ज्यादा प्रतिनिधित्व देने का आश्वासन दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here