तेलंगाना: चुनाव के संबंध मे सोशल मीडिया के उपयोग पर कड़ी निगरानी रखने मे जुटा चुनाव आयोग

64

तेलंगाना: चुनाव के संबंध मे सोशल मीडिया के उपयोग पर कड़ी निगरानी रखने मे जुटा चुनाव आयोग

 

आज के युग मे सोशल मीडिया किसी भी समुदाय या व्यक्ति के विचारों को परिवर्तित करने मे या भावनाओं को भड़काने मे सक्षम है, जिसके चलते चुनाव के समय यह सबसे कारगर प्रचार का मध्यम या फिर किसी भी धारदार हथियार से ज़्यादा ख़तरनाक होता है|

चुनाव के समय सोशल मीडिया के किसी भी तरह के ग़लत उपयोग से बचने के लिए चुनाव आयोग पूरी तरह डटा हुआ है| तेलंगाना के मुख्य निर्वाचन अधिकारी, रजत कुमार ने रविवार को कहा है कि राज्य में विधानसभा चुनाव से पहले किसी भी तरह के मतदान कोड उल्लंघन पर नज़र रखने के लिए राजनीतिक संगठनों और उनसे संबंधित सभी सोशल मीडिया पोस्ट पर नजर रखी जाएगी।

कुमार ने कहा, “चुनावी तेलंगाना मे राजनीतिक दलो और समूहों के द्वारा किया गया हर पोस्ट आचार संहिता के तहत किसी भी आपत्तिजनक सामग्री की जाँच के लिए चुनाव आयोग के स्कैनर से हो कर गुजरेगा”|

सोशल मीडिया के मुद्दों और राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर चुनाव आयोग के मुख्य निर्वाचन अधिकारी की मदद के लिए तेलंगाना में एक एजेंसी नियुक्त की गई है| यह एजेंसी गूगल और फेसबुक जैसी कंपनियों के संपर्क में भी है, जिन्होंने आचार संहिता के उल्लंघन के मामलों में सहयोग का आश्वासन दिया है।

“हम अभी सोशल मीडिया (एमसीसी की सामग्री उल्लंघन) को नियंत्रित करने के तरीके पर काम कर रहे हैं । हम मेट्रिक्स मे कुछ एसे कीवर्ड डाल देंगे जो एमसीसी का उल्लंघन, अपील या कैचफ्रेज़ के साथ धन की पेशकश का संकेत देते हैं।” श्रीमान कुमार ने बताया, “हम विभिन्न वेबसाइटों के माध्यम से स्कैन करेंगे।”

पुलिस महानिदेशक एम महेंद्र रेड्डी ने कोड के उल्लंघन के मामलों में कार्रवाई करने में साइबर विंग की मदद करने की बात कही है। उन्होंने कहा, “स्रोत की पहचान की जाएगी और आईपीसी और साइबर अपराधों के प्रासंगिक वर्गों के तहत उनके खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी।” हैदराबाद पुलिस आयुक्त अंजनी कुमार ने कहा कि वे सामाजिक मीडिया या पारंपरिक तरीके से किसी भी ग़लत इरादे से भेजे गए थोक संदेश पर नजर रखेंगे।

माना जाता है कि सोशल मीडिया के लिए दिशा निर्देश प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के समान ही सटीक है। निगरानी के अलावा, मुख्य चुनाव अधिकारी तेलंगाना के नाम से एक फेसबुक पेज बनाया गया है ताकि चुनाव आयोग द्वारा समाचार और पहलो की अपडेट को मतदाताओं तक पहुँचाया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here