फेसबुक ने ‘हिंदुत्व वार्ता’ पेज को किया सस्पेंड, हिंदू-मुस्लिम प्रेमी जोड़ों के साथ पोस्ट कर हिंसा भड़काना चाहते थे

सोशल मीडिया पर आलोचना होने के कारण “हिंदुत्व वार्ता” पेज को सस्पेंड किया , हिंदुत्व पेज द्वारा अंतर-धार्मिक वैवाहिक जोड़े की सूची प्रकाशित कर हिंसा भड़काने का प्रयास किया...

504

नई दिल्ली। आजकल फेसबुक एक ऐसा जरिया है जिससे आप अपने घर बैठकर गली, मोहले, गावं, शहर या विश्व के किसी भी कोने में रहने वाले अपने परिचितों जैसे अपने दोस्तों, परिवारजनों और रिश्तेदारों के साथ ‘घर से दूर एक और घर’ यानि ऑनलाइन भी संपर्क में रह सकते हैं। मगर जब यही माध्यम हिंसा के लिए भड़काने लगे तो क्या होगा। ऐसा ही कुछ करने की कोशिश हिंदुत्व वार्ता नाम के पेज ने की थी। धार्मिक भावना को चोट पहुंचने वाली पोस्ट करने के कारण ‘हिंदुत्व वार्ता’ पेज को फेसबुक ने हटा दिया।

 

यह पेज अंतर धर्म विवाह करने वाले जोड़ों पर हमला करने के लिए लोगों को उकसा रहा था जिसकी वजह से फोसबुक ने इस सस्पेंड कर दिया। इस पेज में 102 जोड़े के नाम के साथ ही इससे उनके निजी फेसबुक प्रोफाइल को लिंक किया गया था।
सतीश ने फेक न्यूज पर नजर रखने वाली वेबसाइट एएलटी न्यूज के ट्विट का जवाब देते हुए लिखा कि- हिंदुत्व वार्ता पेज का एडमिन बनना मेरे लिए गर्व की बात है। हम जल्द ही दोबारा नया पेज बनाएंगे। आपको बता दें कि इस यूजर का ट्विटर हैंडल अभी अनवेरिफाइड है।

माना जा रहा है कि जोड़ों की लिस्ट को उनके द्वारा फेसबुक पर डाले गए रिलेशनशिप स्टेटस के आधार पर बनाया गया होगा।
सोशल मीडिया फेसबुक और प्लेटफॉर्म पर फैलने के बाद इस सूची के खिलाफ जनआक्रोश दिखा, जिसके बाद फेसबुक ने इस हिन्दू वार्ता पेज को डिलीट कर लिया गया। यह पेज कौन चला रहा था, यह अभी साफ नहीं है।

इस पेज में ‘हिंदू शेरों’ से कहा गया था कि वो लिस्ट में जारी पुरुषों का ‘शिकार’ कर दें। 28 जनवरी को हिंदुत्व वार्ता फेसबुक पेज पर इस लिस्ट को पोस्ट किया गया था। करीबन एक हफ्ते बाद के बाद रविवार को फेसबुक ने संज्ञान लिया और इस पेज को सस्पेंड कर दिया है। सोमवार को ट्विटर यूजर सतीश मायलारापू ने दावा किया कि वह इस विवादित ‘हिन्दू वार्ता’ पेज को चलाता है। हालांकि इसमें कितनी सच्चाई है इसका पता नहीं लग पाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here