आप MLA केस: हाई कोर्ट से पहले गोदी मीडिया ने सुना दिया था फैसला !

622

लाभ के पद मामले में 19 जनवरी 2018 को चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया था। जिसके बाद राष्ट्रपति ने भी चुनाव आयोग की सलाह पर मुहर लगा दी थी। लेकिन अब हाईकोर्ट में दिल्ली में सत्तासीन पार्टी को बड़ी राहत दी है लेकिन मीडिया ने कहानी को पलट कर दिखा दिया था |

देखिये कैसे दिल्ली के मुख्य धारा के media ने फैलाया झूठ और हाई कोर्ट का फैसला आने से पहले ही दे दिया अपना फैसला |

अंजना (आजतक) ने जल्दबाजी में लिखा AAP के 20 विधायक ‘अयोग्य’ करार, सोशल मीडिया यूजर्स बोले- दिल के अरमान आंसुओं में बह गए |

आम आदमी पार्टी को दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले से बड़ी राहत मिली है। लाभ के पद मामले में 20 विधायकों को राहत देते हुए हाई कोर्ट ने अयोग्यता के नोटिफिकेशन को रद्द कर दिया है। कोर्ट ने चुनाव आयोग को इस मामले पर फिर से विचार करने का आदेश दिया है।

कोर्ट के इस फ़ैसले के बाद टीवी एंकर अंजना ओम कश्‍यप ने एक ट्वीट कर लिखा, “AAP के 20 विधायक अयोग्य करार”। दरअसल एंकर से ट्वीट को लिखने में ग़लती हो गई थी। लेकिन यह ग़लती एंकर को भारी पड़ी। सोशल मीडिया पर लोगों ने उनका जमकर मज़ाक बनाया।

हालांकि बाद में एंकर ने ग़लती को सुधारते हुए लिखा, “AAP के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द करने का फ़ैसला दिल्ली हाई कोर्ट ने पलटा। विधायक योग्य क़रार”।

देखिये किस तरह से गोदी media आपको झूठी खबरे पेश कर रहा है और कैसे अपने TRP के लिए आपको झूठ दिखा रहे है |

Watch Here :-  https://vimeo.com/261466226 

विडियो क्रेडिट – विकाश रत्न गोयल – youtube से

 

देखिये स्क्रीन्शोट्स के साथ :-

2:24 pm: India Today tweeted the false news

2.24pm: Anjana Om Kashyap of Aaj Tak tweeted the same in Hindi and Aaj Tak announced the false news on air

 

और इनका साथ दे रहे थे झूठी खबर फैलाने में कुछ नेता 

2.23pm: Kapil Mishra tweeted that 20 AAP MLAs disqualified by Delhi High Court
विजय गोयल सांसद और केन्द्रीय मंत्री

 

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here