4G स्पीड में फिसड्डी भारत, पाकिस्तान और श्रीलंका आगे. 75 देशों की लिस्ट में 74वें नंबर पर भारत

89

नई दिल्ली
भारत देशभर में लगभग सभी टेलीकॉम कंपनियों के प्रचार और दावों को देखें तो ऐसा लगता है कि ये सबसे तेज हैं। लेकिन अभी आये आंकड़े कुछ और ही बयान करते हैं स्पीड कम होती जाती है और कई बार तो 4G की स्पीड 3G या 2G जैसी ही मिलने लगती है।

3G/4G स्पीड भी बहुत कम आई औसत स्पीड से…

हाल ही में आई ओपन सिग्नल की रिपोर्ट के अनुसार भारत 4G स्पीड के मामले में फिसड्डी साबित हो रहा है। खासकर डाउनलोडिंग स्पीड के लिहाज से जो सबसे ज्यादा जरूरी होती है। रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 4G की ऐवरेज डाउनलोडिंग स्पीड सिर्फ 5.1Mbps है।

3G स्पीड की बात करें तो यहां की डाउनलोडिंग स्पीड 1Mbps से भी कम आती है। सबसे चिंताजनक स्थिति तो यह हो रही है कि कुछ 3G यूजर्स के लिए डाउनलोडिंग स्पीड 10Kbps तक होती है।

एवरेज डाउनलोड स्पीड 5.1Mbps का मतलब यह भी है कि भारत की 4G स्पीड दुनिया की एवरेज स्पीड से काफी कम है। क्योंकि ग्लोबल एवरेज 4G डाउनलोड स्पीड 16.2Mbps है। 75 देशों की ग्लोबल रैंकिंग में भारत 74वें नंबर पर है जबकि पड़ोसी देश पाकिस्तान और श्रीलंका भी भारत से आगे चल रहे हैं।

स्पीड और खपत में सबसे आगे निकले….

4G स्पीड में नंबर-1 पर सिंगापुर है जबकि 4G उपलब्धता में साउथ कोरिया नबर-1 है। 75 देशों की लिस्ट में भारत 74वें नंबर पर है और सिर्फ कोस्टा रिका से ऊपर है।

 

इंटरनेट स्पीड में सिंगापुर और उपलब्धता में दक्षिण कोरिया आगे…

ओपन सिग्नल की रिपोर्ट के अनुसार सिंगापुर 46.62 Mbps की स्पीड के साथ नंबर-1 पर है जबकि दूसरे नंबर पर साउथ कोरिया है जहां की एवरेज 4G स्पीड 43.46Mbos है। भारत 75 देशों की सूची में 5.14 Mbps की एवरेज स्पीड के साथ 74वें नंबर पर है लेकिन वही पड़ोसी देश पाकिस्तान 11.7Mbps की स्पीड के साथ 68वें नंबर पर है।

ओपन सिग्नल ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि रिलायंस जियो की वजह से भारत 4G उपलब्धता की लिस्ट में ऊपर गया है। 4G उपलब्धता की बात करें तो 75 देशों की लिस्ट में भारत 15वें नंबर पर है।

भारत में इंटरनेट की खपत छह गुना बढ़ी….

क्लेनर प्रकिंस कॉफिल्ड बायर की रिपोर्ट के अनुसार पिछले छह महीनों में भारत की डाउनलोडिंग स्पीड 1Mbps से ज्यादा घटी है। ऐसा इसलिए क्योंकि रिलायंस जियो की फ्री सर्विस की वजह से यूजर्स की तादाद बहुत तेजी से बढ़ी है। जियो की वजह से दूसरी टेलीकॉम कंपनियों द्वारा भी प्लान सस्ते करने से मोबाइल इन्टरनेट 4जी यूजर्स पिछले दिनों 6 गुना बढ़ गए और डिमांड ज्यादा होने पर स्पीड कम हो गई।
मार्च 2017 में देश में 1.3 अरब जीबी डेटा की खपत हुई और डेटा की कीमत भी काफी कम हुई हैं। जून 2016 में जहां 1 जीबी डेटा की ओसत कीमत 225 रूपये थी वहीं अब मार्च 2017 में 122 रूपये रह गई है।

Also Read:-
वोडाफोन का बड़ा कदम, फर्जी न्यूज वेबसाइटों से हटाएगी अपना विज्ञापन

3 COMMENTS

  1. […] फैलाने वाली बातें प्रकाशित करते हैं। यह कदम वोडाफोन कंपनी ने ऐसी वेबसाइटों … “द टाइम्स ऑफ इन्डिया” में पिछले […]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here