कैराना में तबस्सुम हसन 9 मई को नामांकन पत्र जमा कराएंगी, पार्टी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी रहेंगे मौजूद

कैराना उपचुनाव में तबस्सुम हसन 9 मई को नामांकन पत्र जमा कराएंगी, रालोद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी रहेंगे मौजूद

1338

जयपुर। यूपी की गोरखपुर और फूलपुर पर हुए उपचुनाव में विपक्ष को मिली जीत से उत्साहित रालोद ने प्रमुख विपक्षी गठबंधन प्रत्याशी तबस्सुम हसन को बनाया है। आरएलडी के टिकट पर समाजवादी पार्टी की मदद से कैराना लोकसभा उपचुनाव लड़ने जा रहीं तबस्सुम हसन 9 मई को नामांकन पत्र जमा कराएंगी। नामांकन पत्र जमा करने से पहले शामली में कैराना रोड पर बैंक्वेट हाल में बैठक होगी। जिसमें रालोद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी भी मौजूद रहेंगे।

बता दे कि कैराना लोकसभा सीट बीजेपी सांसद हुकुम सिंह तथा नूरपुर विधानसभा सीट लोकेंद्र सिंह के निधन के बाद खाली हुई थी। अब यहां 28 मई को होने वाले कैराना और नूरपुर लोकसभा सीट पर उपचुनाव में संयुक्त विपक्ष के पूर्ण समर्थन से आरएलडी ने तबस्सुम हसन को मैदान में उतरा है।

रालोद के आईटी प्रकोष्ठ के राजस्थान प्रदेश प्रभारी सुबोध फौजदार ने बताया कि यूपी की कैराना लोकसभा सीट के उपचुनाव में सांप्रदायिक ताकतों को हराने के लिए ही समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और रालोद का संयुक्त गठबंधन हुआ है। फौजदार ने बताया कि 9 मई को जनसभा में रालोद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी के भाषण के बाद ही गठबंधन प्रत्याशी तबस्सुम हसन नामांकन पत्र दाखिल करेंगी।

मालूम हो कि सपा भी तबस्सुम को ही कैराना लोकसभा उपचुनाव लड़ाना चाहती थी। गत शुक्रवार को लखनऊ में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और आरएलडी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी के बीच हुई लम्बी मुलाकात में इस पर सहमति बनी थी कि तबस्सुम सपा के बजाय आरएलडी के टिकट पर चुनाव लड़ेंगी और सपा उनका समर्थन करेगी। इसके अलावा नूरपुर विधानसभा सीट के उपचुनाव में सपा अपना प्रत्याशी उतारेगी और आरएलडी उसे समर्थन देगी। इन दोनों ही सीटों पर उपचुनाव 28 मई को होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here