‘पद्मावत’: सोशल मीडिया पर रिलीज लेटर को करणी सेना ने बताया फर्जी, ट्विटर पर लिखा- आगे भी जारी रहेगा विरोध

414

जयपुर। संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत भले ही विवादों के बीच रिलीज होकर देश के कई राज्यों के सिनेमाघरों में पर्दशन हो चुकी है।  लेकिन इसको लेकर अभी विवादों का दौर यही थमता हुआ नहीं दिख रहा है।  दरअसल, सोशल मीडिया पर इस फिल्म पद्मावत को लेकर जिस तरीके से शुक्रवार की शाम से वायरल हुए एक लेटर को लेकर एक बार फिर से विवादों के बयानों का दुबारा चल पड़ा हैं। जिसमे एक-दूसरे को डुप्लीकेट बताया जा रहा है।

वायरल लेटर में फिल्म पद्मावत पर करनी सेना की सहमति बताई…

सोशल मीडिया पर वायरल माहारष्ट्र कार्यकारिणी के लेटर पेड पर बताया है कि संगठन के लोगो ने २ फरवरी २०१८ को मुंबई में पद्मावत फिल्म देखी, फिल्म पद्मावत में राजपूतों की विरता और त्याग का बहुत ही सुंदर चित्रण किया है और फिल्म राणी पद्मावती की महानता को समर्पित है। जैसी आज तक भ्रांतियां फैलाई जा रही थी वैसा फिल्म में राणी पद्मावती और अल्लाउदीन के बिच कोई भी दृश्य नहीं है जिससे राजपूत समाज के इतिहास एवं भावनावों को नुकसान पहुचायें। वायरल लेटर पैड में यह भी लिखा है, ‘हम आज तक हुए आंदोलन/विरोध को वापस लेते हैं और आपको आश्वासन देते हैं कि राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश समेत भारत देश के अन्य राज्यों के सभी सिनेमाघरों में फिल्म के प्रदर्शन में सहयोग करेंगे।

लेटर पेड को बताया डुप्लीकेट और फर्जी…

वहीं श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी ने सोशल मिडिया पर वायरल हुए फिल्म पद्मावत में राजपूत समाज की शौर्य गाथा बताकर इस फिल्म के समर्थन वाले लेटर को डुप्लीकेट और फर्जी बताया है। संगठन ने अपने ट्विटर ट्विटर पर लिखा- सोशल मीडिया पर ‘पद्मावत’ रिलीज लेटर को करणी सेना ने बताया फर्जी, और आगे भी जारी रहेगा विरोध।

गोगामेड़ी ने कहां कि- सोशल मिडिया पर महाराष्ट्र प्रदेश कार्यकारिणी की तरफ से जो लेटर लेटर वायरल हुआ है वो गलत है। और वायरल लेटर पर संगठन उपाध्यक्ष के जो हस्ताक्षर है वह भी फर्जी है, क्योंकि क्योंकि योगेंद्र जी की पत्नी का कल ही निधन हुआ है। ऐसे में वे वहां मौजूद नही थे।

वायरल ऑडियो की जाँच होगी…

सोशल मिडिया पर इसी तरह से जो ऑडियो वायरल हुआ है, उस पर गोगामेड़ी ने सफाई देते हुए कहा कि उसकी जांच की जाएगी। गोगामेड़ी ने स्पष्ट किया कि उनका संगठन फिल्म पद्मावत का शुरु से विरोध करता आया है और आगे भी लगातार विरोध को जारी रखेगा। महाराष्ट्र कार्यकारिणी में जिस किसी सदस्य ने ऐसा दुस्साहस किया है, उसे संगठन से बाहर निकाला जाएगा।

डुप्लीकेट संगठन के रजिस्ट्रेशन नंबर दिखाओं…

वहीं श्री राजपूत करणी सेना के प्रदेशाध्यक्ष महिपाल सिंह मकराना द्वारा श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना को डुप्लीकेट बताए जाने के सवाल के जवाब में गोगामेड़ी ने कहा कि उनके संगठन श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना का रजिस्ट्रेशन किया हुआ है, जो लोग दूसरे के संगठन को डुप्लीकेट बता रहे हैं, वे जरा अपने संगठन का रजिस्ट्रेशन नम्बर तो बताएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here