कुम्हार कुमावत समाज का दीपावली स्नेह मिलन हुआ संपन्न

114

सीकर 5 नवंबर। नवलगढ़ रोड स्थित कुमावत छात्रावास में रविवार को कुम्हार कुमावत समाज का ‘दीपावली स्नेह मिलन समारोह सम्पन्न हुआ. सम्मेलन की अध्यक्षता शिल्प व माटी कला बोर्ड के अध्यक्ष हरीश कुमावत ने की तथा मुख्य अतिथी राजस्थान सरकार में पीएचईडी मंत्री सुरेंद्र गोयल रहे। विशिष्ट अतिथि के तौर पर सीकर विधायक रतन लाल जलधारी, राजस्थान कुम्हार कुमावत महासभा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ आर सी कुमावत, उपाध्यक्ष गोपाल भाई कुमावत, भाजपा की प्रदेश मंत्री सरोज प्रजापत, बसपा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य डूंगरराम गेदर, एडेजी ईश्वरी लाल वर्मा पथमेड़ा गौशाला के गोविंद बल्लभ महाराज, सांवरमल मल प्रजापति जयपुर आदि ने शिरकत की।

सामूहिक विवाह समिति का गठन….

यह जानकारी देते हुए राजस्थान कुम्हार कुमावत महासभा के युवा मोर्चा अध्यक्ष नितेश पारमुवाल ने बताया कि कार्यक्रम में कुमावत छात्रावास के अध्यक्ष राधेश्याम काम्या ने छात्रावास की आगामी प्रस्तावित 50 कमरों के भवन की आवश्यकता बताते हुए उपस्थित भामाशाहों से सहयोग करने की अपील की। इस पर उपस्थित भामाशाहों ने लगभग इक्यावन लाख रूपयों की मौके पर ही घोषणा कर दी। घोषणा करने वालों में दिनेश घोड़ेला, शुभकरण किरोड़ीवाल, श्रवण नोखवाल, मनोहर चतेरा, पवन छावसरी, देवीलाल मारोठिया, राजेश तूनवाल, ओम प्रकाश नेमिवल और चतुर्भुज तुनवाल सहित अनेक भामाशाह शामिल थे। कार्यक्रम सम्मेलन के दौरान वक्ताओं ने कुम्हार कुमावत समाज की सामूहिक विवाह समिति की आवश्यकता बताई। जिस पर उपस्थित समुदाय के लोगों ने सर्वसम्मति से ‘कुम्हार कुमावत सामूहिक विवाह समिति, सीकर‘ का गठन कर चतुर्भुज तुनवाल को अध्यक्ष बनाया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे शिल्प एवं माटी कला बोर्ड अध्यक्ष हरीश कुमावत ने समाज को एकजुट होकर राजनीतिक प्रतिनिधित्व करने पर जोर दिया , शिक्षा एवं संस्कार को विकास की जननी बताकर संबंधित वक्तव्य दिया। वही मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत कर रहे राजस्थान सरकार के मंत्री सुरेंद्र गोयल ने बालिका शिक्षा, राजनीतिक प्रतिनिधित्व में समाज को हर संभव मदद का भरोसा दिलाया।

आरक्षण पर विचार करने की आवश्यकता बताई…..

कुमावत छात्रावास के अध्यक्ष राधेश्याम काम्या ने मूल ओबीसी आरक्षण पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए समाज की तरफ से भी आरक्षण के बंटवारे पर प्रकाश डाला। अध्यक्ष काम्या कहा कि ओबीसी का 25% आरक्षण का फायदा सिर्फ कुछ एक साधन संपन्न जातियों को मिल रहा है , ओबीसी में शामिल कमजोर जातियों को आज भी आरक्षण का लाभ नहीं मिल रहा है, ऐसे में ओबीसी आरक्षण का बंटवारा कर के मूल ओबीसी में शामिल जातियों के लिए पृथक से आरक्षण होना चाहिए। इसी तरह जातिगत जनगणना के आंकड़े जारी करने की मांग सरकार से की गई।

कार्यक्रम में उपाध्यक्ष राजेश चेजारा, महामंत्री राजेंद्र पारमुवाल, नवरंग बिंवाल, रामस्वरूप भोडिवाल, चिरंजी सिरसवा, रामअवतार जलंधरा, मनोहर चतेरा, सीताराम भोडिवाल,भंवर भाटी, सूरजमल धुवरिया, जानकीलाल मारवाल, मस्तराम किरोड़ीवाल, ओमप्रकाश घटेलवाल, जितेंद्र दमीवाल, मंगल जयलवाल, सुमेरचंद मंडावरा, सुंडाराम जेठीवाल, दिनेश कुमार घोड़ेला ,शुभकरण किरोड़ीवाल, भजनलाल घटेलवाल, गुलजारी लाल भाटीवाल, हजारीमल फौजी, अर्जुन लाल घासोलिया, गजानंद पारमुवाल, संजय भोडिवाल, सीताराम तुनवाल, खेताराम अनवड़िया, पूरणमल घोड़ेला, सुरेश बगड़ी, ओमप्रकाश मरेठीया, रामस्वरूप जलंधरा, मदनलाल तुनवाल, परमेश्वर लाल सिरसवा, सीताराम जेठीवाल, शिवपाल किरोड़ीवाल, सांवरमल निरानिया, बजरंग घोड़ेला, बनवारी घोड़ेला, प्रकाश चंद किरोड़ीवाल, संजय दमीवाल छात्रावास, अधीक्षक मनोज कांटिया प्रभात कुमावत सुनीता कुमावत विशाखा कुमावत कल्याणी पारमुवाल सहित सैकड़ों लोगों ने भाग लिया। कार्यक्रम के समापन में ट्रस्ट के अध्यक्ष राधेश्याम काम्या ने सब का आभार प्रकट किया। कार्यक्रम का संचालन नरपतराम आर्य जालौर द्वारा किया गया सहित अनेक लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here