प्रीति रघुवंशी मामले में जल्द कार्रवाई की मांग के “आप महिला शक्ति” ने लिए दिया धरना

अपने मंत्री को बचाने के लिए निर्लज्जता की सभी हदें पार कर चुकी है सरकार : साधना पाठक

218

भोपालआप महिला शक्ति ने प्रीति रघुवंशी आत्महत्या मामले में सोमवार को बोर्ड ऑफिस चौराहे पर धरना दिया। इस मौके पर आप महिला शक्ति की प्रदेश संयोजिका साधना पाठक ने कहा कि वर्तमान बीजेपी सरकार ने अपने मंत्री को बचाने के लिए निर्लज्जता की सभी हदें पार कर दी है। उन्होंने मांग की कि प्रीति रघुवंशी मामले में रामपाल सिंह को मंत्रिमंडल से तुरंत बर्खास्त किया जाए, साथ ही तुरंत एफआईआर दर्ज कर पिता-पुत्र को तुरंत गिरफ्तार किया जाए।

रामपाल सिंह को मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर, पिता-पुत्र को गिरफ्तार करने की मांग…

उन्होंने कहा कि घटना को करीब एक महीने से ज्यादा वक्त बीत चुका है, लेकिन अभी अब तक न तो किसी प्रकार की एफआईआर दर्ज हुई है, न ही आरोपियों की गिरफ्तारी हुई है और न ही किसी तरह की कोई कार्रवाई की गई है। उन्होंने कहा कि मामले में निष्पक्ष जांच के लिए जरूरी है कि आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए लेकिन सरकार की शह पर पुलिस प्रशासन हाथ पर हाथ धरे बैठा हुआ है।

महिला सुरक्षा की बात करने वाली प्रदेश सरकार इस मामले में चुप्पी साधे हुए है। उन्होंने कहा कि आरोपी सत्ता का लाभ उठा रहे है। सीएम शिवराज सिंह चौहान का नैतिक दायित्व बनता है कि वे अपने मंत्रिमंडल से तत्काल प्रभाव से उन्हें बर्खास्त करें।

भारतीय दंड विधान की धाराओं के तहत पिता-पुत्र के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई हो…

उन्होंने कहा कि इस मामले में तथ्य साफ बताते हैं कि रामपाल सिंह और उनके बेटे ने प्रीति रघुवंशी को आत्महत्या के लिए मजबूर किया है। इस मामले में भारतीय दंड विधान की धारा 294, धारा 494 और धारा 498 के तहत पिता-पुत्र के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह आश्चर्य की बात है कि इतनी बड़ी घटना के एक महीने से ज्यादा बीत जाने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की गई है। साफ है कि मुख्यमंत्री आरोपियों को संरक्षण दे रहे हैं, उन्हें बचा रहे है।

जिला स्तर पर जारी रहेगा धरना प्रदर्शन…

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी की महिला शक्ति इस मामले को लेकर लगातार प्रदर्शन कर रही है और यह तब तक जारी रहेगा जब तक कि ठोस कार्रवाई नहीं होती है। प्रीति को इंसाफ दिलाने के लिए भोपाल से आप ने धरने की शुरुआत की है और अब मामले में ठोस कार्रवाई होने तक 24 अप्रैल से जिला स्तर पर भी यह धरना जारी रहेगा।

उन्होंने कहा कि घटना के तुरंत बाद ही हमने कार्रवाई के लिए दबाव बनाया था। पुलिस हेडक्र्वाटर जाकर ज्ञापन भी दिया, लेकिन प्रशासन के कानों पर जूं भी नहीं रेंगी है। अब इस मामले में तीव्र आंदोलन के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है।

बोर्ड ऑफिस पर धरना प्रदर्शन के मौके पर प्रदेश संयोजिका साधना पाठक, आप महिला शक्ति की जिला संयोजक रीना सक्सेना, इंदौर से विजया देवड़ा, मंदसौर से राजिन्दर कौर, शाजापुर से निर्मला सेंगर, भोपाल से मंजू जैन श्रीमति मुन्नी एवं कमला प्रजापति समेत बड़ी संख्या में पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here