सीकर: “बेटा पढ़ाओ – संस्कार सिखाओ” मुहिम को बढ़ाने के लिए आगे आये गोगापीर सेवा समिति के सदस्य

370

सीकर – लक्ष्मणगढ़ के नरसास की राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में बसन्त पंचमी के उपलक्ष्य में बाल सभा का आयोजन किया गया , कार्यक्रम में युवा लेखक व कवि हरीश शर्मा द्वारा आयोजित अभियान “बेटा पढाओ – संस्कार सिखाओ” का आगाज गोगापीर सेवा समिति के सानिध्य में हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ माँ सरस्वती के करकमलों में पुष्प व दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया।

आयोजक समिति ने बताया कि युवा कवि श्री हरीश शर्मा ने अपने अभियान “बेटा पढ़ाओ – संस्कार सिखाओ” पर प्रकाश डालते हुए बताया कि किस प्रकार से समाज में बेटों को उनके अधिकारों से वंचित रहना पड़ता है और कोइ भी उनके लिए आवाज तक नहीं उठा रहा। इसी बात को लेकर कवि हरीश ने एक अभियान की शुरुवात की है , बेटा पढाओ संस्कार सिखाओ। अभियान के माध्यम से कवि संस्कारों की डुबती नैया को फिर से सम्भालने की कोशिश कर रहे है। जब तक समाज का हर एक बेटा संस्कारी नही होगा, तब तक समाज की बेटीया सुरक्षित नही नही रह पाएगी।

इस अभियान को लेकर आमजन को जागरूक होना चाहिए एवं कवि शर्मा के कदम से कदम मिलाकर साथ चलना चाहिए। कवि शर्मा ने कहा की सभी बच्चों को अभियान को लेकर अपने – अपने विचार लिखने है जिनको सात दिन बाद चेक किया जाएगा, जिस बच्चे के विचार अच्छे होंगे उनको बेटा पढ़ाओ – संस्कार सिखाओ अभियान की तरफ से सम्मानित किया जाएगा। कवि शर्मा ने कहा कि अब बच्चों से विचार लिखवाने की जिम्मेदारी संस्था परिषर की है एवं यह भी कहा- जिन बच्चों के विचार अच्छे होंगे, उनको पेपर में मेरे द्वारा प्रकाशित भी करवाए जाएंगे। ताकि बच्चा अपना समय बुरी संगति में ना लगाकर, अपने अच्छे विचारों को लिखने में लगाए।

अभियान को लेकर मोटीवेशनल स्पीकर भँवरसिंह शेखावत खाकोली ने विद्यार्थी जीवन में आने वाली परेशानियों से ना घबराते हुए सफल होने के मूल-मंत्र बताये। शेखावत ने बताया कि किस प्रकार से एक विधार्थी अपने ध्यान को एकाग्रचित करके जीवन में सफलता को प्राप्त कर सकता है। साथ ही बताया कि किसी एक प्रयास में असफल होने पर हताश नहीं होना चाहिए। एवं स्मार्ट युथ एकेडमी के श्री धर्म वर्मा ने विद्यार्थियों को जीवन में कभी भी निराश ना होकर सफलता के लिए प्रयासरत रहने के सिद्धान्तों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि जीवन में एक सफल आदमी बनने के अनेकों मौके मिलते हैं जरूरत है सिर्फ उस मौके पर अपने आपको सिद्ध करने की।

गाँव नरसास के विद्यालय स्टाफ और ग्रामवासी श्री सवाईसिंह नरूका, श्री रतनसिंह ,एवम्  गोगापीर सेवा समिती के श्री लक्षमनसिंह नरूका , जीवराज सिंह,सुरेश सैन,संदिप गोदारा, राजेश, मुकेश, महेशसिंह, जितेन्द्रसिंह, मनोज, सुरेन्द्र सिंह चारण और दिपेन्द्र आदी ने आगन्तुक मेहमानों का माल्यार्पण कर स्वागत किया एवं छात्राओं द्वारा तिलकार्चन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि लेखक व कवि हरीश शर्मा, धर्म वर्मा, भवरसिंह खाकोली, स्कूल स्टाफ, गोगापीर समिति के सदस्य व ग्रामवासियों सहित छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here