नगर पालिका के गलत रवैए के कारण क्षेत्र में अटे पड़े कचरे से गंदगियों के शिकार हो रहे लोगों ने PM की स्वच्छ भारत अभियान को नकारा बताया

950

झुंझुनू जिले: नवलगढ़ शहर में कचरा निस्तारण की समस्या को लेकर जिलेभर से आए लोगों ने क्षेत्रवासियों के सहयोग से नगर पालिका प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध जताया

पालिका का आलसीपन कचरे का सबब….

नवलगढ़ शहर में लगातार कई दिनों से चल रही कचरे की समस्या पर हरिसिंह जाखड़ ने बताया कि उन्हें कई दिनों से इस कचरे के कारण बदबूदार वातावरण का सामना करना पड़ रहा है प्रशासन ने 3 साल पहले जब पालिका के पास कचरा डालने के लिए उचित जगह नहीं थी तब कुछ पार्षद महोदयों ने 1 साल के लिए अस्थाई तौर पर कचरा डालने के लिए एक जगह का चुना लेकिन पालिका के पास जगह का अभाव होने के कारण क्षेत्रीय लोगों ने भी मना नहीं किया
और वस्त्विकता ये है की आज 3 साल हो गए और पालिका प्रशासन कचरे का निपटारा करने के लिए उचित जगह का चयन नहीं कर पाई, हालांकि केंद्र सरकार ने “स्वच्छ भारत अभियान” के तहत पालिका क्षेत्र को साफ-सफाई बनाए रखने के लिए करोड़ों कब बजट देती है लेकिन नगर पालिका उचित उपयोग में नहीं लेती है

पालिका में कांग्रेस बोर्ड, PM का स्वच्छ भारत अभियान फेल….

जब नगर पालिका ने 1 साल की जगह लगातार तीन साल अस्थाई जगह पर कचरा डालना शुरू रखा और उस जगह के आसपास सरकारी-निजी विद्यालय, महाविद्यालय और छात्रावास भी इस गंदगी का शिकार होने से वंचित नहीं रहे तो आखिरकार क्षेत्र वासियों ने पालिका के खिलाफ आंदोलन करने का निश्चय किया और पीएम की स्वच्छ भारत की मुहिम को नकारा करार दिया
PM की ‘स्वच्छ भारत अभियान’ मुहिम को नगरपालिका प्रशासन गहराई से इसलिए नहीं ले रहा क्योंकि पालिका में कांग्रेस का बोर्ड है
इसी बिच क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि विजेंदर डोटासरा ने जनसभा को सम्बोधित करते हुए बताया कि “स्वच्छ भारत अभियान” के लोगो में जिस चश्मे का उपयोग किया गया है उस चश्मे पर एक साइड में स्वच्छ लिखा हुआ और दूसरे साइड में भारत लिखा हुआ है और यदि भारत की जगह नवलगढ़ लिखकर उसी चश्मे से नवलगढ़ को देखा जाए तो “स्वच्छ नवलगढ़” की जगह “कचरा नवलगढ़” दिखता है क्योंकि चारों तरफ है नवलगढ़ में चारों तरफ कचरे ही कचरे के ढेर लगे हुए हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here