‘ठुल्ला’ कहने पर CM केजरीवाल के खिलाफ कोर्ट जाने वाली दिल्ली पुलिस BJP MP मनोज तिवारी का थप्पड़ खाकर भी चुप

91

शाम 4 बजे मुख्यमंत्री केजरीवाल द्वारा सिग्नेचर ब्रिज का उद्घाटन होना था। लेकिन इससे ठीक पहले 3 बजे करीब BJP सांसद मनोज तिवारी ने अपने कार्यकर्ताओं के संग पहुँचकर सिग्नेचर ब्रिज पर उत्पात मचाने शुरू कर दिया।

पहले तो दिल्ली पुलिस ने ढिलाई बरतते हुए गुंडागर्दी करने वाले BJP कार्यकर्ताओं के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया लेकिन जब मनोज तिवारी अपने सैकड़ों गुंडों के साथ स्टेज पर चढ़ने लगे तब पुलिस की नींद जागी, किंतु तब बहुत देर हो चुकी थी। BJP के उपद्रवियों ने पूरे सिग्नेचर ब्रिज पर उत्पात मचा रखा था।

जब पुलिस ने इनके नेता और BJP सांसद मनोज तिवारी को वहां से हटाने की कोशिश की तो पुलिस और मनोज तिवारी के बीच जबरदस्त झड़प हो गयी। बात हाथापाई तक पहुंच गयी और मनोज तिवारी ने दिल्ली पुलिस के IPS अफसर को अपशब्द कहते हुए तमाचा जड़ दिया।

:

सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन समारोह में पहुंचकर BJP सांसद मनोज तिवारी ने किया हंगामा। दिल्ली पुलिस के आईपीएस अफसर को मारा थप्पड़।

यही नहीं अफसर मीणा के बचाव में आगे आए DCP अतुल ठाकुर का मनोज तिवारी ने गिरेबान पकड़ लिया। जिसका वीडियो बेहद वायरल हो रहा कि क्या एक सांसद को ये व्यवहार शोभा देता है? ऑन ड्यूटी एक आदिवासी समाज से आए पुलिस अफसर को थप्पड़ मारने के लिए SC/ST एक्ट लगाकर मनोज तिवारी को तुरन्त गिरफ्तार कर जेल भेजना चाहिए।

हैरानी की बात यह है कि जो दिल्ली पुलिस मुख्यमंत्री केजरीवाल द्वारा रेहड़ीपटरी वालों से हफ्ता वसूलने वाली पुलिस के लिए इस्तेमाल किये गए ‘ठुल्ला’ शब्द से इतना भड़क गयी थी उसके खिलाफ CM केजरीवाल पर मानहानि का केस दर्ज कर कोर्ट पहुंच गयी थी।

उसी दिल्ली पुलिस ने कल सिग्नेचर ब्रिज उद्घाटन के पश्चात मीडिया के सवाल पर कहा कि सब कुछ संतोषजनक था। बीच में कुछ असामाजिक तत्वों ने माहौल बिगाड़ने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने मामले को संभाल लिया। दिल्ली पुलिस ने आश्चयजनक रूप से BJP संसद मनोज तिवारी द्वारा IPS अफसर को थप्पड़ मारने के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करने से कन्नी काट ली।

आपको बता दें कल सिग्नेचर ब्रिज पर गुंडागर्दी करने और IPS अफसर को थप्पड़ को मारने के बाद अपनी हरकत पर शर्मसार होने की बजाय दबंगई दिखाए हुए मनोज तिवारी ने खुलेआम दिल्ली पुलिस को ही धमकी दे डाली की 4 दिन में इनको बताऊंगा की पुलिस होती क्या है।

दिल्ली पुलिस के IPS अफसर को थप्पड़ मारने के बाद BJP सांसद मनोज तिवारी ने खुलेआम पुलिस को दी धमकी

बोले- “पुलिस के जिन लोगों ने मुझसे धक्का मुक्की है उनकी शिकायत हो गई है मैं इन सब को पहचान चुका हूं और 4 दिन में इनको बताऊंगा पुलिस क्या होती है।”

मनोज तिवारी ने कहा -“पुलिस के जिन लोगों ने मुझसे धक्का मुक्की है उनकी शिकायत हो गई है मैं इन सब को पहचान चुका हूं और 4 दिन में इनको बताऊंगा पुलिस क्या होती है।”

आम आदमी पार्टी के लोकसभा प्रभारी दिलीप पांडे ने मनोज तिवारी पर हमला करते हुए कहा कि, “पुलिस वाले को पीटने के बाद, सांसद तिवारी जी ने कल पुलिस ऑफिसर मीणा जी को मां-बहन की भद्दी-भद्दी गालियाँ दी, और 4 दिन में देख लेने की धमकी दी। एक जनप्रतिनिधि से ऐसे व्यवहार की अपेक्षा नहीं की जाती। यह बेहद शर्मनाक और दुर्भाग्यपूर्ण है। अब पुलिस के पास अपनी अस्मिता बचाने, कानून का सम्मान बनाये रखने के बस 4 दिन हैं। दुःखद !”

मुख्य सचिव अंशु प्रकाश द्वारा मुख्यमंत्री केजरीवाल पर थप्पड़ मारने के खोखले आरोपों पर जिस मुस्तैदी के साथ दिल्ली पुलिस ने कार्यवाही करते हुए AAP MLA को गिरफ्तार करते हुए मुख्यमंत्री के घर तक कि पूरी जांच की थी वही दिल्ली पुलिस आज ऑन कैमरा BJP सांसद मनोज तिवारी का थप्पड़ खाने के बाद उन्हें गिरफ्तार करने की जगह उनके द्वारा 4 दिन में देख लेने की धमकी से खौफ खाई हुयी है। किसी मीडिया समूह ने अबतक ना तो दिल्ली पुलिस के मालिक LG साहेब और ना ही मोदी सरकार से सवाल पूछने की हिम्मत दिखायी है। यह सब जितना आश्चर्यजनक है उससे ज्यादा शर्मनाक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here