CBI रेड की आड़ में दर्जनों अधिकारियों का दिल्ली CMO में पदभार संभालने से इंकार

794

दिल्ली
दिल्ली सरकार के अधिकारियों में सीबीआई का डर इस कदर चढ़ गया है कि कोई भी अधिकारी दिल्ली के मुख्यमंत्री कार्यालय CMO में पदभार संभालने के लिये तैयार नहीं है। सीएम के प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार और उप सचिव तरूण कुमार पर भ्रष्टाचार के एक मामले में कार्रवाई हो चुकी है, वर्ष 2016 में सीबीआई के मामले के बाद दोनों अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया। जिसका नतीजा सामने चौकाने वाला है, अधिकारियों की कमी का सामना कर रहा सीएमओ में जल्द ही “कोई अधिकारी” नहीं बचेगा।

सीएम आवास में काम करने से द्रजनों अफसरों का इंकार…

अधिकारियों में इस बात कर डर है कि कही वे भी “सीबीआई के रडार” पर आ सकते हैं। सीएम कार्यालय में अधिकारियों की कमी को देखते हुए करीब एक दर्जन अधिकारियों से संपर्क किया गया लेकिन उन्होंने कार्रवाई की आशंका जताते हुए पदभार संभालने से विनम्रतापूर्वक इनकार कर दिया।

अफसरों के इंकार की वजह CBI का डर…..

दरअसल जबसे केजरीवाल सरकार का का गठन हुआ है तब से ही दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार के बीच सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। आम आदमी पार्टी ये आरोप लगाती रही है कि भाजपा दिल्ली विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार का बदला दिल्ली सरकार के अफसरोंऔर मंत्रियों से ले रही है। दिल्ली सरकार को काम न करने देने का भी आरोप आम आदमी पार्टी केंद्र की भाजपा सरकार पर लगाती रही है। जिसका खामियाजा दिल्ली के लोगों को उठाना पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here