10 दिन से घरों में पानी नहीं आया तो परेशान महिलाएं सड़क पर बैठीं, मटके फोड़ रास्ता रोका तो सप्लाई हुई शुरू

885

जोधपुर(रिपोटर- अमेश बैरड़ तिंवरी)। ओसियाँ क्षेत्र के कस्बे तिंवरी में पिछले 10 दिनों से पानी की समस्या से परेशान महिलाओं व ग्रामीणों ने गुरुवार को जनस्वास्थ्य अभियांत्रिक विभाग के ऑफिस के पास मुख्य सड़क पर प्रदर्शन कर मटके फोड़े व रास्ता रोका। आक्रोशित महिलाएं अधिकारियों पर सुनवाई नहीं करने के आरोप लगा रही थी। कस्बे के भार्गव मोहल्ला, रामावत कॉलोनी और प्रजापत मोहल्ला में जल संकट को लेकर महिलाएं जलदाय विभाग के कार्यालय पहुंची। अधिकारियों के नहीं मिलने पर आक्रोशित महिलाओं ने कार्यालय के पास मुख्य मार्ग पर मटके फोड़े व नारेबाजी शुरू कर दी।

सुनवाई नहीं होने पर महिलाओं ने रास्ता जाम किया…

तिंवरी में प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि करीब 150 से अधिक घरों को पिछले 10 दिनों से नियमित पानी नहीं मिल रहा है। सुचना पर आधे घण्टे बाद पीएचडी व पुलिस अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर शीघ्र कार्रवाई का भरोसा दिलाया और इन मोहल्लों में पेयजल आपूर्ति शुरू करवाया तथा साथ ही लापरवाह कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन दे मामला शांत किया।

कर्मचारियों पर लगाया लापरवाही का आरोप…

भार्गव मोहल्ले के निवासी मुकेश भार्गव ने आरोप लगाया कि ग्रामीणों ओर महिलाओं के सड़क पर आते ही पेयजल आपूर्ति शुरू हो गई, इससे ये सिद्ध हो रहा है कि विभाग के कर्मचारी लापरवाही बरत रहे है।

महिलाओं ने रास्ता जाम किया

लापरवाही पर कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे…

जलदाय विभाग के सहायक अभियंता रणवीर सिंह शेखावत ने बताया कि कस्बे में रोजाना 15 लाख गैलन पानी की आपूर्ति हो रही है। पूरे कस्बे को दो ब्लॉक में बांटकर एक दिन छोड़ कर एक दिन पेयजल आपूर्ति की जा रही है।इनके अनुसार बुधवार ओर गुरुवार को बिजली आपूर्ति बाधित रहने के चलते कुछ वार्डों में आपूर्ति बाधित हुई है। जिन मोहल्लों में 10 दिन से पेयजल बाधित होने के आरोप है वहां की जांच करके आरोप सही साबित होने पर ड्यूटी में लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here