भारत विकास परिषद् पाली शाखा द्वारा राष्ट्रीय समूहगान एवं लोकगीत प्रतियोगिता का आयोजन…

1420

पाली। भारत विकास परिषद् पाली शाखा द्वारा प्रान्त स्तरीय राष्ट्रीय समूहगान (हिन्दी एवं संस्कृत गीत) एवं लोकगीत प्रतियोगिता रविवार को वन्देमातरम् स्कूल में आयोजित की गई। कार्यक्रम संयोजक प्रवीण मेहता ने बताया कि कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उप मुख्य सचेतक मदन राठौड़ तथा अध्यक्षता भारत विकास परिषद् सेन्ट्रल जोन के राष्ट्रीय संयुक्त मंत्री अरूण डागा थे। दीप प्रज्ज्वलन कर प्रतियोगिता की जानकारी प्रान्तीय अध्यक्ष रामकुमार जोशी ने की तथा राष्ट्र धर्म अपनाने की बात पर जोर देते हुए कहा कि राष्ट्र में विभिन्न धर्म सम्प्रदाय एवं जातियां भले ही भिन्न-भिन्न मत रखे परन्तु राष्ट्र की अस्मिता के लिए सभी को एक मत रहना होगा तभी संस्कृति की रक्षा होगी। मुख्य अतिथि पद से बोलते हुए राठौड़ ने कहा कि संविधान ने हमें मूल अधिकारों में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार दिया है, परन्तु प्रत्येक बात मर्यादित एवं सीमाओं में रहकर कहेंगे तो राष्ट्रीय सुरक्षा तथा युग धर्म की रक्षा होगी। अमर्यादित बातें बोलना हमारी रक्षा पंक्ति में छेद करना है, ऐसा बोलना या लिखना सच्चे राष्ट्र भक्त को शोभा नहीं देता। राठौड़ ने कहा कि परिषद् राष्ट्र भक्ति से ओतप्रोत गीतों की प्रस्तुतियों का कार्यक्रम आयोजित कर हमें भारत माता को नमन करने का बारम्बार स्मरण कराती है। आयोजित कार्यक्रम में बच्चों ने ‘‘भारत हमारी मां है, माता का रूप प्यारा है, करना इसी की रक्षा कर्तव्य हमारा’’ तथा राष्ट्र की जय चेतना का गान वन्दे मातरम् जैसे गीतों की प्रस्तुतियां देकर उपस्थित जनों की खूब वाहवाही लूटी। इस प्रतियोगिता में बाडमेर, जैसलमेर, पाली, जालोर तथा जोधपुर जिलों की 7 टीमों ने भाग लिया।

सचिव हरिगोपाल सोनी ने बताया कि हिन्दी तथा संस्कृत गीतों एवं लोकगीत प्रतियोगिता में हंस निर्वाण सरस्वती माध्यमिक विद्यालय प्रथम स्थान पर रहा, वहीं दूसरे तथा तीसरे स्थान पर क्रमशः टैगोर पब्लिक स्कूल बालोतरा एवं राजकीय अणची देवी बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय पचपदरा पर रहे। इस अवसर राष्ट्रीय मंत्री दुर्गादत्त शर्मा, प्रान्तीय अध्यक्ष रामकुमार जोशी, महामंत्री भवानीशंकर गौड़, वित सचिव पुखराज राठी, रीजनल सेक्रेट्री अनिल गोयल, पर्यवेक्षक के रूप में अलवर के अशोक मित्तल पाली शाखा अध्यक्ष मेघराज बम्ब, सचिव हरिगोपाल सोनी, वित्त सचिव सुरेश सर्राफ, संयोजक द्वारकालाल अग्रवाल, कमल गोयल, बजरंगलाल हुरकट, महेश सारडा, जगदीश झंवर, राकेश मेहता, आर.आर.सी. मेहता, रमेश सांड, धर्मेन्द्र सिंह, संदीप लोढ़ा, प्रमोद देसरला, नेमीचंद अखावत, राजेन्द्र सिंह भाटी, जयशंकर त्रिवेदी एवं शहर के कई गणमान्य नागरिक, शिक्षाविद् तथा समाजसेवी उपस्थित थे। निर्णायक की भूमिका में सिरोही से आए रमेश कोठारी, पिण्डवाड़ा से संजय कलावंत तथा जोधपुर से जगदीश हर्ष थे। कार्यक्रम का संचालन उषा अखावत तथा इन्दु शर्मा ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here