प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना संक्रमण की वृद्धि के लिए जिमेदार हैं — IMA उपाध्यक्ष।

262

कोरोना के बढ़ते प्रकोप से हर कोई अवगत है। यह माहामारी अमीर—गरीब, नेता—अभिनेता सभी के लिए अभिशाप बन रही है। इसके संक्रमण को रोकने के लिए उपयुक्त नित्य नहीं ले पाने के लिए IMA उपाध्यक्ष ने मोदी जी को ही इसके “सुपर स्प्रेडर” की संज्ञा दी है।

महामारी की शुरुआत के गलत निर्णय —

जनवरी 2020 में जब देश विदेश में कोरोना महामारी ने अपना प्रचंड रूप दिखाना शुरू किया था, उसी समय से नरेंद्र मोदी की नाकामयाब नीतियों ने देश वासियों को बहुत कष्ट दिए हैं। सही समय पर सही निर्णय न ले पाने का और कोरोना को देश में पैर पसारने का मोका देने के लिए केवल मोदी जी ही जिमेवर हैं।

राजनीतिक रैलियों का कोरोना पर असर—

देश भर के कई राज्यों में हो रही राजनीतिक रैली भी कोरोना को बढ़ावा देने में सक्षम हैं। लाखों की संख्या में लोग बिना कोविड—19 के मानदंडों को अपनाए इन रैलियों में शामिल होते हैं। यह रैलियों ही सबसे बड़ी एवं खतरनाक हॉटस्पॉट बन रहीं हैं और कोई नेता इस ओर ध्यान न देकर केवल अपने निजी स्वार्थ के लिए लाखों की जान को खतरे में डाल रहे हैं।

ऑक्सीजन की कमी—

जब देश खुदकी जरूरत पुरी करने में असमर्थ है, ऐसे समय में जग सेवा का दायित्व उठाए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी विदेशों में ऑक्सीजन सप्लाई करवा रहे हैं।
न केवल IMA उपाध्यक्ष एवं कई बड़े एवं प्रसिद्ध अधिकारी भी मोदी जी के इन निर्णयों के समर्थन में नहीं हैं। देश मोदी जी के इस गैर जिमेदाराना रवैये से बहुत दुखी एवं गुस्से में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here