सड़क पर नहीं लगेंगे टायर किलर्स, ट्रैफिक पुलिस ने दिए हटाने के आदेश

770

पुणे। हाल ही में पुणे में लगाए गए टायर किलर्स ने काफी सरहाना बटोरी थी। और कहा भी गया था कि इससे ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों को कड़ा सबक मिलेगा, लेकिन अब इस योजना पर रोक लगती नजर आ रही है।

दरअसल पुणे की टाउनशिप अमानोरा पार्क में ऐसे टायर किलर्स लगाए गए थे, जिससे सड़क पर विपरीत दिशा से आने वाली गाड़ी के टायर फट जाएंगे। इसके बाद लोगों ने ऐसे टायर किलर्स ज्यादा से ज्यादा लगाए जाने की सिफारिश की थी, लेकिन अब पुणे के ट्रैफिक पुलिस डिपार्टमेंट ने इस पर रोक लगाकर टाउनशिप से इन टायर किलर्स को तुरंत हटाने की मांग की है।

बता दें कि टायर किलर्स को पुणे में एक स्कूल के नजदीक रोजाना होने वाले ट्रैफिक जाम की समस्या से निपटने के लिए लगाया गया था। टाउनशिप के वाइस प्रेजिडेंट सुनील कराते ने कहा, ‘स्कूल के नजदीक होने वाले ट्रैफिक जाम से बचने के लिए हमने ये टायर किलर्स लगाए थे, ताकि अपने बच्चों को लेने आने वाले पैरंट्स को विपरीत दिशा से आने वाली गाड़ियों से परेशानी का सामना न करना पड़े। यहां विपरीत दिशा से आने वाले वाहनों के कारण दुर्घटना का खतरा रहता है।

 

तुरंत हटाने के आदेश…

इसलिए बच्चों की सेफ्टी को ध्यान में रखते हुए इन्हें लगाया गया था। टायर किलर्स लगाए जाने के बाद विपरीत दिशा से आने वाले वाहनों की संख्या में खासी कमी आई थी।’ शुरुआत में इन टायर किलर्स को लगाए जाने की लोगों और यहां तक कि ट्रैफिक पुलिस ने भी काफी प्रशंसा की थी, लेकिन अब ट्रैफिक पुलिस ने इन्हें हटाए जाने का आदेश दिया है।

पुलिस ने 31 मार्च को नोटिस देकर कहा है कि इन टायर किलर्स को तुरंत हटा लिया जाए। ट्रैफिक पुलिस का कहना है कि इन टायर किलर्स को एक सार्वजनिक रोड पर बिना किसी सरकारी एजेंसी की इजाजत के लगाया गया है और इनसे दुर्घटनाओं और लोगों के घायल होने का खतरा और बढ़ गया है।

एक पुलिस अधिकारी जेडी कलास्कर ने कहा, ‘ये टायर किलर्स काफी शार्प हैं और इनके ऊपर गिरकर कोई भी व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो सकता है। चूंकि पास में स्कूल भी है इसलिए यह और ज्यादा खतरनाक हो जाते हैं। इन टायर किलर्स को लगाने से पहले किसी तरह की परमिशन भी नहीं ली गई थी।’

ट्रैफिक पुलिस का यह भी कहना है कि इस तरह के टायर किलर्स के खतरनाक होने के कारण इन्हें इंडियन रोड कांग्रेस ने भी अप्रूव नहीं किया है। उन्होंने बताया कि सार्वजनिक रास्तों पर ऐसे टायर किलर्स को नहीं लगाया जा सकता है। हालांकि सीमित इस्तेमाल किए जाने वाले प्राइवेट रास्तों के गेट पर इनका इस्तेमाल किया जा सकता है। ट्रैफिक पुलिस में पूरी जांच-पड़ताल के बाद इन्हें हटाए जाने का आदेश दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here