सीएम हैल्पलाइन की तैयारियों में जुटे विभाग

966

जयपुर। 26 जुलाई, 2017
राजस्थान प्रदेश में सेंटर फॉर गुड गवर्नेंस के लिए शुरू की जाने वाली मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर आमजन से जुड़े विभागों के लगभग तीस से अधिक कामों की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। इस मुख्यमंत्री हैल्पलाइन प्रदेशवासियों द्वारा ऑनलाइन समस्याएं दर्ज करवाई जा सकेंगी। दर्ज समस्याओं के निस्तारण की जानकारी मेसेज के जरिए परिवादी को उपलब्ध करवाई जाएगी।

राज्य में सभी विभागों से मुख्यमंत्री हैल्पलाइन पर मुहैया करवाई जाने वाली सुविधाओं की सूची मांगी गई है, जिसमें अपने अपने विभाग से संबंधित काम के लिए एक अधिकारी भी तय किया जाएगा, जिसे एल-1 से एल-4 तक केटेगेरी दी जाएगी। जिससे तय होगा कि फलाने विभाग को किसी काम को कितने दिन में करना होगा। और इससे अधिक समय लगने पर विभाग में संबंधित अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। प्रदेश के किसी भी कोने में बैठा आदमी(परिवादी) हैल्पलाइन पर नंबर डायल कर अपनी समस्या दर्ज करवा सकेगा। इसके बाद यह समस्या स्वत: ही दर्ज हो जाएगी और संबंधित अधिकारी को निस्तारण के लिए ट्रांसफर भी कर दी जाएगी और परिवादी को उसके द्वारा रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर मेसेज के जरिए सूचना दी जाएगी कि आपकी समस्या दर्ज हो चुकी है। इस हैल्पलाइन की सौगात प्रदेशवाशियों को स्वतंत्रता दिवस यानी 15 अगस्त को देने की तैयारी कर रही हैं। ऐसे में इसके सभी तकनीकी पहलुओं को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

शहरी विकास का काम तय…

यूडीएच की ओर से प्राधिकरण, यूआईटी व निकायों से सम्बंधित करीब 25 काम तय किए गए हैं, जो हैल्पलाइन के जरिए निस्तारित किए जा सकेंगे। हरेक काम की समयसीमा तय करने के साथ ही संबंधित अधिकारी का नाम भी तय किया जा रहा है। इसके बाद समस्त प्रक्रिया तय करते हुए आईटी विभाग को फॉरमेट भेजा जाएगा।

जिलेवार प्रभारी तय…

सहकारिता विभाग ने हैल्पलाइन के सम्बन्ध में सभी जिलों में प्रभारी अधिकारी नियुक्त किए हैं। अधिकारियों को जिलों में राजस्थान संपर्क पोर्टल पर लंबित परिवादों की रैंडम जांच कर रिपोर्ट भी मांगी गई है। प्रभारी अधिकारी अपने-अपने प्रभार वाले जिलों में सहकारी संस्थाओं में लंबित परिवादों का भी शीघ्र ही निस्तारण संख्या शून्य करवाने का कार्य करेंगे।

अधिक खबरों के लिए हमारे फेसबुक और ट्विटर पर जुड़े…..

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here