चुनावी साल में राजस्थान के भाजपा अध्यक्ष अशोक परनामी की छुट्टी, मिली नयी जिम्मेदारी

राजस्थान भाजपा अध्यक्ष पद से अशोक परनामी की छुट्टी, मिली नयी जिम्मेदारी

626

जयपुर। राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा संगठन में बड़ा फेरबदल हुआ है। प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी ने 16 अप्रेल को प्रदेशाध्यक्ष पद से इस्तीफा केन्द्रीय बीजेपी नेतृत्व को भेज दिया था। पिछले कई दिनों से पार्टी नेतृत्व में बदलाव की चर्चा थी और तभी से प्रदेशाध्यक्ष पद के लिए पार्टी के कई नेताओं के नाम सियासी गलियारों सुर्खियों में है।

सूत्रों से जानकारी मिल रही है कि केंद्रीय आलाकमान ने परनामी के इस्तीफे को स्वीकार भी कर लिया है। शीघ्र ही पार्टी नए राजस्थान प्रदेश के लिए नए प्रदेशाध्यक्ष की घोषणा करेगी। हालांकि, पार्टी ने अभी आधिकारिक तौर पर तो परनामी के इस्तीफे की पुष्टि नहीं कर रही है, लेकिन पार्टी पदाधिकारियों ने नाम नहीं छापने पर बताया कि इस्तीफा दे दिया है और उनका इस्तीफा मंजूर भी हो गया है। एकाध दिन में नए अध्यक्ष की घोषणा हो जाएगी।

बीजेपी के केन्द्रीय नेतृत्व ने परनामी के इस्तीफे के बाद उन्हें पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य भी नियुक्त कर दिया है। परनामी को मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का करीबी माना जाता है।

संघ निष्ठा का नेता बनेगा अध्यक्ष…

केन्द्रीय नेतृत्व ने प्रदेश में होने वाले आगामी दिसम्बर महीने में राजस्थान विधानसभा चुनावों को देखते हुए प्रदेश संगठन में यह बदलाव किया गया है, ताकि पार्टी चुनावो से पहले संगठन के तौर पर मजबूत किया जा सके। पार्टी नेतृत्व नए अध्यक्ष पद पर उसे नियुक्ति करना चाहती है, जिसका प्रदेश में जनाधार हो और सभी गुटों को साध सके। जिस तरह के राजनीतिक हालात हैं, उससे लगता है कि पार्टी नेतृत्व अब संघ निष्ठ नेता को ही प्रदेश अध्यक्ष बनाएगा।

उपचुनाव में हार की गाज…

राज्य में दो लोकसभा और एक विधानसभा सीट पर हुए उपचुनावों में पार्टी को मिली करारी हार के बाद नेतृत्व ने यह फैसला किया है। पिछले ही दिनों अलवर, अजमेर लोकसभा और मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर पार्टी की करारी हार के चलते अशोक परनामी की विदाई हुई है। तीनों सीटों पर हार के बाद नेताओं की बयानबाजी भी हुई। विधायक घनश्याम तिवाड़ी, ज्ञानदेव आहूजा समेत अन्य नेताओं ने प्रदेश नेतृत्व और सरकार पर हार का ठीकरा फोडते हुए कहा कि कार्यकर्ताओं व जनता की सुनवाई नहीं हो रही है।

केन्द्रीय नेतृत्व ने भी रिपोर्ट मंगवाई तो हार के लिए सरकार और पार्टी की नीतियों को जिम्मेदार माना। इसी के चलते अशोक परनामी को हटाया गया है।

ये नेता हैं दावेदार…

परनामी के इस्तीफे के बाद राजस्थान में नए प्रदेश अध्यक्ष के लिए करीब आधा दर्जन से अधिक नेता दौड़ में है। इसमें केन्द्रीय मंत्री और राज्य सरकार के मंत्री भी शामिल हैं। नए अध्यक्ष के तौर पर केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, अर्जुनराम मेघवाल, पीपी चौधरी, राज्यवर्धन सिंह राठौड़ का नाम आगे चल रहा है तो कोटा सांसद ओम बिड़ला, सतीश पूनिया, कैबिनेट मंत्री अरुण चतुर्वेदी, पूर्व मंत्री लक्ष्मीनारायण दवे भी दौड़ में शामिल है। संघनिष्ठ एक वरिष्ठ नेता का नाम भी तेजी से उभरा है। वे प्रदेश में पहले महती भूमिका निभा चुके है।

 

Also Read: आम आदमी पार्टी ने राजस्थान विधानसभा इलेक्शन के लिए 10 उम्मीदवारों के नामों का किया एलान, जाने कौन-कौन है…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here