कर्ज लेने के मामले में राजस्थान, मध्य प्रदेश सरकार टॉप टेन स्टेट में शामिल है

केंद्र सरकार से कर्ज लेने के मामले में राजस्थान, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु सरकार टॉप टेन स्टेट में शामिल है

621

दिल्ली। केंद्र सरकार से कर्ज लेने के मामले में जहां राजस्थान राज्य पहले स्थान पर है तो वहीं तमिलनाडु दूसरे और मध्य प्रदेश सरकार तीसरे स्थान पर है।

मध्य प्रदेश सरकार ने केंद्र सरकार से 2016-17 में एक हजार 1266 करोड़ का कर्ज लिया था। जबकि इस साल में उस पर 13879 करोड़ का कर्ज बकाया है। कर्ज मामले में राजस्थान अभी टॉप पर है जिसने साल 2016-17 में 3455 करोड़ रुपए कर्ज लिया। तमिलनाडु सरकार ने साल 2016-17 में 1917 करोड़ का कर्ज केंद्र सरकार से लिया था। मध्य प्रदेश सरकार ne कर्ज लेने के मामले में इस साल मध्य प्रदेश सरकार ने केंद्र से 13879 करोड़ रुपए का कर्ज लिया है।

राजस्थान पर केंद्रीय कर्ज बढ़कर 11 हजार हो गया है। अब तक के बकाया केंद्रीय कर्ज के लिहाज से तमिलनाडु पहले और मध्य प्रदेश दूसरे पायदान पर है। राजस्थान ने सिर्फ बीते वर्ष 2016-17 में 3455 करोड़ रुपए का कर्ज एडवांस में लिया था।  यह अंतर इतना अधिक था कि इस वर्ष के दौरान किसी और राज्य के दो हजार करोड़ की रकम भी नहीं मिली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here