क्यों दिल्ली सरकार ने निर्भया के आरोपी को दी सिलाई मशीन जानिए पूरा सच !

केजरीवाल सरकार ने क्यों दी थी निर्भया के आरोपी को सिलाई मशीन ?? पढ़िए सच ? क्या था इसमें मोदी सरकार का कानून

420

देश में रेप बलात्कार जैसी घटनाएं प्रतिदिन बढ़ती जा रही है, हाल ही में जम्मू में मन्दिर के अंदर एक छोटी बच्ची का रेप किया गया था जिसको लेकर बीजेपी की काफी किरकिरी हुई थी क्योंकि बीजेपी के नेता आरोपियों के समर्थन में रैली,जुलूस तक निकाल चुके थे ,इतना ही नहीं रैली में भारत माता की जय जैसे नारे भी लगाए गए थे ।

इसी के अलावा एक खबर यूपी के उन्नाव से आई जहां एक युवती ने बीजेपी के विधायक कुलदीप सेंगर पर रेप का आरोप लगाया, आरोपी को गिरफ्तार करने के बजाय योगी पुलिस ने उल्टा पीड़िता के पिता को हिरासत में ले लिया और खूब मारपीट की जिससे कि हिरासत में ही पीड़िता के पिता की मृत्यु हो गई । बीजेपी यहां भी अपने विधायक का बचाव करती रही अंत में हाई कोर्ट के आदेश पश्चात आरोपी को हिरासत में लिया गया।

ऐसे अपराधों में लिप्त आरोपियों और बच्चियों के बलात्कार करने वालो के लिए फांसी की सजा की मांग को लेकर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति जयहिंद 10 दिन तक राजघाट पर अनशन पर बैठी रही, उन्हें समर्थन देने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और अन्य मंत्री, संसद सदस्य, विधायक और कई नामचीन हस्तियां आगे आईं । दबाव के बाद केंद्र ने अध्यादेश लाकर उसे मंजूर करवा दिया और स्वाति ने तब अनशन ख़तम किया ।

रेप के मामले पर आम आदमी पार्टी के संयोजक , नेता, कार्यकर्ता आदि को घेरने के लिए बीजेपी आईटी सेल ने अपनी घटिया रणनीति का प्रयोग किया  , आईटी सेल ने सोशल मडिया पर खबर फैलाई की “केजरीवाल ने निर्भया के आरोपी सिलाई मशीन और दस हज़ार रुपए दिए ”

आइए बताएं क्या है सच – केेन्द्र ने 2014 में एक जुवेनाइल कानून पास किया था जिसमें राज्य सरकार को नाबालिग अपराधियों को सजा पूरी करने के पश्चात एक नोडल अधिकारी नियुक्त करने और पुनर्वास के लिए मदद करने को कहा ।

अब इसी कानून के तहत दिल्ली सरकार ने नाबालिग आरोपी को पुनर्वास के लिये मदद की, लेकिन आरोपी मुस्लिम था इस लिए बीजेपी आईटी सेल ने इसे सांप्रदायिक रंग देना शुरू कर दिया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here