हरियाणा की खट्टर सरकार ने बिते दो साल में विज्ञापनों पर ख़र्च किए 190 करोड़ रुपये

1105

विज्ञापनों के लिए खट्टर सरकार ने प्रिंट मीडिया को 173 करोड़ रुपये और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को 11.5 करोड़ रुपये का भुगतान किया है।

Haryana chief minister's Manohar Lal Khattar
मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहरलाल खट्टर. (फोटो: फेसबुक)

सूचना के अधिकार(आरटीआई) 2005 के तहत खुलासा हुआ है कि हरियाणा की मनोहरलाल खट्टर सरकार ने पिछले दो सालों में 190 करोड़ रुपये विज्ञापन पर ख़र्च किए हैं। यह जानकारी हरियाणा सरकार के सूचना, जनसंपर्क और भाषा विभाग द्वारा दी गई थी।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, यह जानकारी रोहतक के सामाजिक कार्यकर्ता और हरियाणा सूचना अधिकार मंच के संयोजक सुभाष द्वारा मांगी गई थी।

आरटीआई से मिली जानकारी….

आरटीआई के तहत मिली जानकारी के मुताबिक राज्य सरकार ने 20 अक्टूबर 2014 और 4 जनवरी 2017 के बीच प्रिंट मीडिया को 173 करोड़ रुपये और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को 11.5 करोड़ रुपये विज्ञापन के लिए भुगतान किया है।

हरियाणा सरकार की योजनाएं जिनमें यह धन काम आया….

हरियाणा में राज्य सरकार ने अपनी योजनाओं-

  1. बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ
  2. प्रवासी हरियाणा दिवस
  3. हरियाणा शिखर सम्मेलन और
  4. हरियाणा स्वर्ण जयंती आदि को प्रसारित करने के लिए बनाए गए फ्लेक्स बोर्ड पर 5.5 करोड़ रुपये ख़र्च किए हैं।

 

पहले RTI का जवाब नहीं दिया तो दूसरी RTI लगाई

आरटीआई आवेदक का कहना कि उन्हें यह जानकारी सूचना, जनसंपर्क और भाषा विभाग ने पहले किसी भी जानकारी के बिना आवेदन को वापस कर दिया गया था। इसके बाद उन्होंने मुख्य सचिव कार्यालय के माध्यम से आरटीआई दायर की जिसके बाद जानकारी दी गई।

विभाग द्वारा दिए गए जवाबों में विभागों के भीतर समन्वय और सूचना के अभाव पर प्रकाश डाला गया है। प्रदर्शनी अधिकारी से 6 अप्रैल को पहला जवाब मिलने पर पता चला कि विभाग ने किसी आउटसोर्सिंग एजेंसी से विज्ञापनों के फ्लेक्स बोर्ड बनाने में मदद नहीं ली है।

Haryana government advertising expenses