भाजपा एससी मोर्चा के जिलाध्यक्ष महेन्द्र कुमार नारनोलिया ने पार्टी छोडी. नारनोलिया के अलावा कई ओर एससी के नेताओं ने भाजपा को अलविदा.

भाजपा को करारा झटका, एससी मोर्चा अध्यक्ष ने छोड़ी पार्टी

882

सीकर। भारतीय जनता पार्टी को सीकर से करारा झटका मिला है। भाजपा एससी मोर्चा के जिलाध्यक्ष महेन्द्र नारनोलिया ने अपने सभी पदों से दिया इस्तीफा दे दिया है। महेन्द्र 14 वर्ष से बीजेपी में सक्रिय थे। उनके साथ ही भाजपा एससी मोर्चा के जिला मंत्री करण वर्मा, भाजपा एससी मोर्चा के रानोली, पलसाना मण्डल अध्यक्ष महावीर प्रसाद वर्मा, खाटूश्यामजी मण्डल अध्यक्ष गंगा कुमारी ने भी अपने सभी पदों से दिया इस्तीफा दे दिया है। इन सभी का कहना है भाजपा शासन में दलितों के हितों की रक्षा नहीं हो रही है।

जातिवाद की राजनीती में हमेशा अग्रहणी…

दांतारामगढ़ से सामाजिक कार्यकर्त्ता राजकुमार शर्मा ने कहा कि “मैं महेंद्र नारनोलिया जी के इस कदम का स्वागत करता हूँ। बीजेपी की तुच्छ राजनीती, गलत नीतियों तथा जातिवाद की राजनीती का साथ नहीं देकर महेंद्र ने अपने पद(एससी मोर्चा के जिलाध्यक्ष) से त्याग पत्र देकर बीजेपी से पद मुक्त किया।”

राज कुमार ने आगे कहा कि बीजेपी हमेशा से ही जातिवाद की राजनीती करती है, जिन्होंने 2014 में जो वादे किये थे उनकों सिरे से नकारती रही है। बीजेपी प्रदेश और केंद्र दोनों ही जगहों पर सत्ता में है फिर भी कोई कार्य नहीं किया। हर पांचवें साल में चुनावों के वक्त किसानों, बेरोजगार युवाओं, व्यापारियों, विद्यार्थी तरह-तरह के लुभावने वादों में फ़साने का काम कांग्रेस-बीजेपी समय-समय वोट झड़पने का काम करती आ रही है।

में महेंद्र नारनोलिया जी इस शानदार कदम के लिए बधाई देता हूं, बीजेपी की जातिवाद व बंटवारे की राजनीती के सारथी बनने से मना…

Publiée par Raj Kumar Kochhor sur Vendredi 13 avril 2018

चुनावी साल में जनहित के नहीं जनता से वादे, बाकि दिनों उद्योगपतियों की यादे…

बता दे की सत्ता में काबिज बीजेपी ने चुनावो के वक्त बीजेपी ने किसानों से उनकी उपज का उचित समर्थन मूल्य देने, युवाओं को 2 करोड़ नौकरी खोलने, हर गरीब के कहते में 15-15 लाख डालने, राम मंदिर बनाने का वादा, धरा 370 हटाने का वादा, बेटियों-महिलाओं पर हो रहे अत्याचार पर रोक समेत बीजेपी के ढेर सारे लुभावने वादे है जिन पर बीजेपी ने भोली भाली जनता से वोट हड़पने का काम करती है। कांग्रेस-बीजेपी आमजन के हित की राजनीती कभी नहीं करती बल्कि ये तो उद्योगपतियों(बीजेपी का चंदा देने वाले) के हित की राजनीती करती हे।
बीजेपी की गलत नीतियों का शिकार होकर महेंद्र जी के साथ ही जिलामंत्री करण वर्मा, रानोली पलसाना मंडल अध्यक्ष महावीर वर्मा, खाटूश्याम मंडल अध्यक्ष गंगा कुमारी ने भी अपने पद से इस्तीफा दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here