मिसाइल मैन डॉ एपीजे अब्दुल कलाम की पुण्यतिथि पर विशेष

135

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम (Avul Pakir Jainulabdeen Abdul Kalam ) का जन्म 15 October 1931 को तमिलनाडु के Rameswaram में हुआ । इन्होंने 1960 में Madras Institute of Technology से एरोस्पेस इंजीनियरिंग में पढ़ाई की । इंजीनियर बनने के बाद डॉ. कलाम का Defence Research and Development Organisation (DRDO) में सिलेक्शन हो गया । वहाँ सेवा करने के पश्चात Indian Space Research Organisation (ISRO) में भी इन्होंने सेवा दी ।इन्होंने DRDO में रहते हुए देश को रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के लिये मिसाइलों का निर्माण किया जिनकी वजह से इन्हें ” मिसाइल मैन ” नाम दिया गया ।फिर 1998 में पोखरण में किये गए परमाणु परीक्षण में भी इनका महत्वपूर्ण योगदान रहा । 25 जुलाई 2002 को डॉ. कलाम देश के 11वें राष्ट्रपति चुने गए । इस पद पर इन्होंने 25 जुलाई 2007 तक सेवा दी । इस दौरान डॉ. कलाम ने राष्ट्रपति भवन को आम लोगों का भवन बनाया ।27 जुलाई 2015 को Indian Institute of Management, Shillong में लेक्चरर के दौरान Cardiac Arrest की वजह से 83 वर्ष की उम्र में निधन हो गया । एक शिक्षक के लिये अंतिम पल भी यदि पढ़ाते हुए बीते तो यह उसके लिये सौभाग्य की बात है ।डॉ. कलाम को जीवन मे 40 यूनिवर्सिटी की तरफ से 7 डॉक्टरेट की मानद उपाधियां दी गयी । इसके अलावा इन्हें निम्न सम्मान भी प्राप्त हुए :-1. 1997 में भारत रत्न से सम्मानित ।2. 1981 में पद्म भूषण अवार्ड ।3. 1982 में अन्ना यूनिवर्सिटी ने उन्हें डॉक्टर की उपाधि से सम्मानित किया ।4. 1990 में पद्म विभूषण अवार्ड ।5. 1999 में डॉ. कलाम भारत सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार बने ।6. 1962 में”भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) से जुड़े ।7. 2002 में राष्ट्रपति बने ।इसके अलावा डॉ. कलाम ने बहुत सारी किताबें भी लिखी, जो निम्न है -1. India 2020: A Vision for the New Millennium2. A Manifesto for Change: A Sequel to India 2020,3. Wings of Fire: An Autobiography4. The Luminous Sparks5. Mission India, Inspiring Thoughts6. Indomitable Spirit,7.Envisioning an Empowered Nation8. You Are Born To Blossom : Take My Journey Beyond9. Turning Points: A journey through challenges10. Target 3 Billion11. My Journey : Transforming Dreams into Actions12. Forge your Future : Candid, Forthright, Inspiring13. Reignited: Scientific Pathways to a Brighter Future14. Transcendence: My Spiritual Experiences with Pramukh Swamiji15. Advantage India: From Challenge to Opportunityपूर्व प्रथम नागरिक, भारत रत्न, पद्म विभूषण, वैज्ञानिक, मिसाइलमैन, शिक्षक, बच्चों के प्रिय नेता डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम को उनकी पुण्यतिथि पर शत् शत् नमन #RIPkalam

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here