विमंदित बच्चों ने पहली बार गोलचा टॉकीज में देखी फिल्म जुमानजी

विमंदित बच्चों ने पहली बार गोलछा टॉकीज में देखी फिल्म जुमानजी, नन्हें बच्चों ने अतिथियों का गुलदस्ता देकर उत्साह से किया स्वागत

916

जयपुर। विशेष योग्यजन निदेशालय एवं गोलछा टॉकीज के सहयोग से मानसिक विमंदित महिला बाल कल्याण पुनर्वास केंद्र जामडोली में आवासरत मानसिक विमंदित विशेष बालक बालिकाओं ने गोलछा टॉकीज में पहली बार जुमानजी फिल्म बड़े उत्साह से देखी। विशेष बच्चे फिल्म के कई सीन देख कर खुश हो कर तालीयॉं बजा रहे थे।

बच्चों ने अतिथियों का गुलदस्ता देकर स्वागत किया…

इससे पूर्व विमंदित बच्चों ने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ.अरुण चतुर्वेदी एवं हाईकोर्ट के न्यायाधीश गोवर्धन लाल बाढ़दार का एवं अन्य अतिथियों का बड़े उत्साह से गुलदस्ता देकर स्वागत भी किया।

बच्चों को समाज जोड़ने एवं प्रतिभाओं को तराशेंगे…

इस मोके पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. अरुण चतुर्वेदी ने कहा कि हमारा प्रयास ऐसे बच्चों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने एवं उनमें छुपी प्रतिभाओं को तराशने का काम करने का है। उन्होंने बताया कि विमंदित घर में ऐसे बच्चे रहते है जो म्यूजिकल, पेंटिंग और विभिन्न तरह की गतिविधियों को करते हुए विभिन्न तरह का सामान उत्पादन करते है।

बच्चों को मनोरंजन का मौका मिले…

इस मौकेे पर हाईकोर्ट के न्यायाधीश गोवर्धन बाढ़दार ने कहा की ऐसे विशेष बच्चों का उत्साह देख कर बड़ी खुशी हुई है। ऐसे बच्चों को भी उनके अपने जीवन में मनोरंजन करने का मौका जरूर मिलना चाहिए।

गोलछा टॉकीज के प्रबंधक अभिमन्यु ने कहा है कि ऐसे बच्चों का उत्साह बढ़ाने एवं मनोरंजन करने का यह पहला प्रयास है, आगे भी ऐसे प्रयास जारी रखे जाएंगे। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा बनाए गए उत्पाद को मार्केट तक लाना और उसकी बिक्री करवाने का पूरा प्रयास किया जायेगा।
इस अवसर पर विशेष योग्यजन निदेशक श्रीमती अनुपमा जोरवाल, अतिरिक्त निदेशक अभिताभ शर्मा, भामाशाह एवं सामाजिक सेवा संगठनों के कई प्रतिनिधि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here