26 मार्च भारत बंद रहा पूर्णतया सफल | देश किसानो के साथ |

275

26 मार्च भारत बंद रहा पूर्णतया सफल | देश किसानो के साथ |

26 मार्च भारत बंद रहा पूर्णतया सफल | देश किसानो के साथ |

संयुक्त किसान मोर्चा ने 26 मार्च 2021 को भारत बंद की घोषणा की थी और देश के सभी नागरिकों से यह अपील की थी कि इस बंद को सफल बनाने में मदद करें। यहां बता दें कि देश की सरकार ने जो 3 नए कृषि कानून बनाए हैं उनके विरोध में 4 महीने पूरे होने पर आज भारत बंद का आयोजन किया गया था जिसका असर संपूर्ण देश पर देखने को मिला।

दिल्ली-यूपी जोड़ने वाला गाजीपुर बॉर्डर रहा बंद किसानों ने गाए गीत |

जानकारी के लिए बता दें कि सुबह 6 बजे से ही संयुक्त किसान मोर्चा के प्रदर्शनकारियों ने जुटना शुरू कर दिया था इसी वजह से दिल्ली-यूपी जोड़ने वाला गाजीपुर बॉर्डर भी बंद हो गया था और इसके साथ-साथ दिल्ली हरियाणा बॉर्डर पर भी जाम लगा रहा। बता दें कि गाजीपुर बॉर्डर पर किसान होली के गीत गाने के साथ साथ नाचते हुए भी नजर आए।

संपूर्ण देश पर रहा भारत बंद का असर |

भारत बंद का असर यूं तो देश के अनेकों स्थानों पर देखने को मिला लेकिन इस बंद से जो जगह सबसे ज्यादा प्रभावित हुईं वह दिल्ली, हरियाणा और पंजाब रहीं। इन तीनों जगहों पर भारी मात्रा में रास्ते भी जाम रहे और किसान प्रदर्शनकारियों ने भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया।

अमृतसर और दिल्ली के रेल ट्रैक भी रहे जाम |

जानकारी दे दें कि सुबह से ही किसान मजदूर संघर्ष समिति के अनेकों लोग अमृतसर और दिल्ली के रेल ट्रैक पर बैठ गए थे और शाम 6 बजे तक वहीं पर बैठे रहे जिसमें किसानों के साथ-साथ अन्य नागरिक भी भारी संख्या में शामिल थे।

अंबाला-चंडीगढ़ हाईवे रहा बंद|

यहां आपको यह भी बता दें कि किसान संगठनों ने आज भारत बंद के समय अंबाला-चंडीगढ़ हाईवे को भी बंद रखा और इसके अलावा बता दें कि जीरकपुर-पंचकूला रोड पर भी भारी संख्या में जाम लगा रहा और काफी वाहन वहां फंसे रहे क्योंकि आंदोलनकारी वहां पर भारी मात्रा में इकट्ठा हुए थे जिसकी वजह से जाम लग गया था।

दिल्ली से पंजाब , कर्नाटक से महाराष्ट्र तक किसानों का प्रदर्शन |

बता दें कि आज भारत बंद का आयोजन करके किसानों के आंदोलन की वजह से लगभग 31 जगहों पर रेलवे ट्रेक्स पर जाम लग गया था जिसकी वजह से दिल्ली-अंबाला के साथ-साथ फिरोजपुर रेलवे मंडल भी प्रभावित रहा। साथ ही साथ यह भी जानकारी दे दें कि भारत बंद की वजह से आज 4 शताब्दी ट्रेनों को भी रेलवे द्वारा रद्द कर दिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here