मोदी सरकार बनने के बाद के सबसे ऊंचे रेट पर पेट्रोल, डीजल भी रिकॉर्ड स्तर पर

पेट्रोल 55 महीने में सबसे महंगा, डीजल भी ऐतिहासिक ऊंचाई पर

424

नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल दोनों के रेट बढ़ने का सिलसिला लगातार जारी है। केंद्र में पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की एनडीए सरकार के आने के बाद अब दोनों ही नए रेकॉर्ड स्तर पर पहुंच गए है। सोमवार की सुबह भी पेट्रोल के भाव 10 पैसे और और डीजल के भाव में 20 पैसे प्रति लीटर चढ़ गए। इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन(आईओसी) की वेबसाइट के मुताबिक राजधानी दिल्ली में सोमवार सुबह करीब 6 बजे पेट्रोल की कीमत रिकॉर्ड स्तर 74.50 रुपए और डीजल 65.75 रुपए प्रति लीटर पहुंच गई है।

बता दें कि पेट्रोल और डीजल कंपनियां आजकल रोजाना पेट्रोल-डीजल की कीमतों का निर्धारण करती है। इससे पहले 14 सितंबर 2013 को पेट्रोल 76.06 रुपए प्रति लीटर रहा था। दिल्ली में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में रविवार को 19 पैसे का इजाफा हुआ। जिस पर तेल कंपनियों का कहना है कि इसकी वजह अंतरराष्ट्रीय मार्केट में कच्चे तेल की कीमतों से बढ़ोतरी हुई है। इससे पहले शनिवार को पेट्रोल के रेट 13 पैसे और डीजल 15 पैसे बढ़े थे।

कोलकाता में पेट्रोल के दाम 77.2 रुपये प्रति लीटर, मुंबई में 82.35 रुपये प्रति लीटर और कोलकाता में तो डीजल 70.01 रुपये प्रति लीटर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया।

बढ़ती कीमतों को देखते हुए एक्साइज ड्यूटी में कटौती का केंद्र सरकार पर दबाव बनाया जा रहा है। बजट आने से पहले पेट्रोलियम मंत्रालय ने पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी कम करने की मांग की थी, लेकिन फरवरी में बजट पेश करने के दौरान वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ऐसा कोई ऐलान नहीं किया। केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार बनने के बाद 2014-2016 के बीच करीबन 9 बार एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई जा चुकी है। जबकि कटौती केवल एक ही बार हुई है। साउथ एशियाई देशों में भारत में पेट्रोल डीजल का रीटेल प्राइस सबसे ज्यादा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here