केन्द्रीय मंत्री एमजे अकबर ने जर्नलिस्ट प्रिया रमाणी पर पटियाला हाउस कोर्ट में दर्ज करवाया आपराधिक मानहानि का केस

137

दिल्ली: केन्द्रीय मंत्री एमजे अकबर ने जर्नलिस्ट प्रिया रमाणी के खिलाफ आज दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में दर्ज करवाया आपराधिक मानहानि का मामला है। प्रिया वहीं जर्नलिस्ट है जिन्होंने एमजे अकबर पर यौन शोषण और दुव्र्यवहार जैसे आरोप लगाए। ये केस एमजे अकबर के वकील करणज्वाला के माध्यम से किया गया है।

मीटू कैंपेन में आपबीती सुनाने वाली प्रिया के मुताबिक उन्होंने पिछले साल वोग पत्रिका में अपने साथ हुए यौन शोषण का स्मरण लिखा। उन्होंने कहानी की शुरुआत एमजे अकबर के साथ हुई घटना से की थी। प्रिया ने तब एमजे अकबर का नाम नहीं लिया था, लेकिन 2017 की स्टोरी का लिंक शेयर करते हुए एमजे अकबर का नाम लिख दिया। प्रिया के मुताबिक यह कहानी जिससे शुरू होती है, वह एमजे अकबर है।

प्रिया ने लिखा है कि उस रात वह भागी थीं, फिर कभी उसके साथ अकेले कमरे में नहीं गई। प्रिया रमाणी ने एक के बाद एक कई ट्वीट किया।

कई अखबारों और पत्रिकाओं में संपादक रह चुके एमजे अकबर रविवार को ही विदेश यात्रा से लौटे है और आते ही उन्होंने खुद पर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताया और कहा था कि वह ऐसे आरोप लगाने वाली महिलाओं के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे।

उन्होंने बयान में कहा,‘‘मेरे खिलाफ लगाए गये दुव्र्यवहार के आरोप झूठे और मनगढंत है। इन झूठे और बेबुनियाद आरोपों से मेरी छवि को अपूर्णीय क्षति पहुंची है।’’अकबर ने कहा कि उनके वकील इन मनगढंत और बेबुनियाद आरोपों पर गौर करेंगे। उन्होंने सवाल किया कि आम चुनावों से कुछ महीने पहले यह तूफान क्यों उठा है?

उल्लेखनीय है कि एमजे अकबर पर कुल 9 महिलाओं ने कथित आरोप लगाए थे। वहीं मोदी सरकार पर भी दबाव बढ़ता जा रहा है और विपक्ष के निशाने पर एमजे अकबर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here