VIRAL सच: क्या अटलजी के निधन के बाद केजरीवाल ने मनाया जन्मदिन का जश्न ??

179

नई दिल्ली। भारतीय राजनीति के पितामह कहे जाने वाले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का गुरुवार शाम 93 साल की उम्र में निधन हो गया। अटल जी के निधन की खबर मिलते ही पूरे देश में शोक की लहर दौड़ गई है। केंद्र सरकार ने अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर सात दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तमाम दलों के छोटे-बड़े नेता अटल जी का अंतिम दर्शन करने उनके कृष्ण मेनन मार्ग पर स्थित सरकारी आवास पर पहुँच रहे हैं।

लोग-बाग सोशल मीडिया पर भी उनकी पुरानी तस्वीरें और वीडियो शेयर कर उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं। लेकिन, इसी बीच सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें दिल्ली के मुख्यमंत्री केक काटकर अपना 50वां जन्मदिन मनाते नजर आ रहे हैं। इस तस्वीर को शेयर करने वाले लोग यह भी दावा कर रहे हैं कि अटल जी के निधन के बाद केजरीवाल अपने जन्मदिन का जश्न मना रहे हैं।

अटल बिहारी का हालचाल जानने AIIMS पहुंचे केजरीवाल, कहा नहीं मनाएंगे जन्मदिन

बता दें कि अरविंद केजरीवाल का जन्मदिन 16 अगस्त को होता है। मगर गुरुवार सुबह जब पार्टी के कई कार्यकर्ता और समर्थक केजरीवाल का जन्मदिन मनाने CM आवास पहुंचे तो अटल जी की हालत नाजुक होने की खबर लगातार आनी शुरू हो गयी। इसके बाद केजरीवाल ने अटल जी के खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए अपना जन्मदिन नहीं मनाने का निर्णय लिया और कार्यकर्ताओं से सीएम आवास न पहुँचने की अपील भी की। इसके बाद वह दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के साथ अटल जी का हालचाल जानने एम्स भी गए।

इसी बीच केजरीवाल के केक काटने की तस्वीर वायरल हो गयी। जिसपर लोगों ने तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं देनी शुरू कर दी।

मामले को तूल पकड़ता देख AAP के सोशल मीडिया रणनीतिकार अंकित लाल ने फेसबुक पर एक पोस्ट में पूरे घटनाक्रम के बारे में लिखा है। अंकित ने लिखा, ‘आज अटल जी हमारे बीच नहीं रहे। आज अरविंद भाई का 50वां जन्मदिन भी था। इन दोनों के बीच कुछ लोगों ने वो काम करना शुरू कर दिया है जिसमें उनकी महारत है – गालियाँ देना और भ्रम फ़ैलाना।’

अंकित लिखते हैं, ‘सुबह 8 बजे से ही कई सारे कार्यकर्ता, MLA और मित्र अरविंद केजरीवाल के घर आये हुए थे। अरविंद ने उनके साथ केक भी काटा। दिन में जब अटल जी की तबियत ज्यादा बिगड़ने की ख़बर आई तो अरविंद भाई ने मिलने आये लोगों को बताया कि वो और मनीष भाई अटल जी को देखने जा रहे हैं तथा लोगों से ये भी कहा की ऐसी परिस्थिति में जन्मदिन मनाने की इच्छा नहीं रही।  उन्होंने केरल में आई हुई बाढ़ के लिए डोनेट करने को भी कहा। इसके बाद केजरीवाल AIIMS चले गए।

अंकित आगे बताते हैं कि ये दुखद ये है कि शाम को अटल जी की मृत्यु के बाद कई लोग ये भ्रम फैला रहे हैं कि अरविंद केजरीवाल अटल जी की मृत्यु के बाद भी जन्मदिन मना रहे थे। कम से कम उस व्यक्ति की मौत के नाम पर राजनीति नहीं करनी चाहिए जिसने सारी ज़िन्दगी राजनीति से ऊपर उठकर राजधर्म निभाया।

सोशल मीडिया के ऊपर एक किताब लिख चुके अंकित लाल ने कहा कि आप गौर से देखेंगे तो असली तस्वीर में पीछे दीवार पर टंगी घड़ी में लगभग 11 बज रहे हैं। लेकिन बहुत चतुराई के साथ घड़ी को क्रॉप कर दिया गया है ताकि लोग सच्चाई पकड़ न पाएं। हमारे विरोधी 50,000 तरीके के झूठ फैलाते हैं, पर आज अटल जी की मृत्यु पर राजनीति करके लोगों के बीच भ्रम फैलाना बेहद दुखद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here