वोडाफोन का बड़ा कदम, फर्जी और घृणात्मक न्यूज वेबसाइटों से अपना विज्ञापन हटाने का निर्णय किया

100

Vodafone hits on Fake News portals

दिल्ली, 7 जून (आईएएनएस)| वोडाफोन ने अपने विज्ञापन उन ऑनलाइन प्लेटफार्मो को देना बंद करने का निर्णय लिया है, जो फर्जी खबरें या घृणा फैलाने वाली बातें प्रकाशित करते हैं। यह कदम वोडाफोन कंपनी ने ऐसी वेबसाइटों पर अपने विज्ञापन प्रकाशित होने से रोकने के लिए उठाया है।द टाइम्स ऑफ इन्डिया” में पिछले दिनों छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, दूरसंचार कंपनी ने इस संबंध में एक वैश्विक नियम बनाने की तैयारी कर ली है।

फर्जी समाचार और घृणात्मक भाषण फेलाने वाले प्लेटफॉर्मो से विज्ञापनो को अलविदा…

वोडाफोन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विटोरियो कोलाओ ने कहा, “घृणा भाषण और “फर्जी समाचार” समुदायों के बीच सम्मान और भरोसा को नुकसान पहुंचाते हैं।” उन्होंने कहा, “हम इस तरह की अपमानजनक और हानिकारक सामग्री से अपने ब्रांड का जुड़ना बर्दाश्त नहीं करेंगे।”

वोडाफोन कंपनी नई विज्ञापन पोलिसी…

वोडाफोन हर साल विज्ञापन पर लगभग 75 करोड़ पाउंड खर्च करती है। कंपनी का तर्क है कि वे अपनी नई विज्ञापन पोलिसी के तहत एक श्वेतसूची (व्हाइटलिस्ट) जारी करेगी, जिसमें किन-किन मीडिया घरानों को वोडाफोन का विज्ञापन दिया जाएगा, उसका उल्लेख होगा।

सोशल मीडिया पर गलत खबर से बचे….

वोडाफोन के कारपोरेट मामलों के निदेशक मैट पीकॉक के अनुसार, सूची ‘अभिव्यक्ति के वैध साधन’ को नहीं छेड़ेगी, जिसे कुछ लोगों के लिए आक्रामक माना जा सकता है। वोडाफोन ने यह कदम गूगल, यूट्यूब और फेसबुक जैसी कंपनियों की चरमपंथी या अपमानजनक सामग्रियों से निपटने में विफलता के कारण उनकी बढ़ती आलोचना के बीच उठाया है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here