बेरोजगारों की फौज तैयार , सरकार निद्रा में |

143

बेहतर समाज के लिए शिक्षा आवश्यक है अपितु आम व्यक्ति की जीविका के लिए रोजगार जरुरी है। शिक्षा व्यक्ति के जीवन और बेहतर जीवीका का प्रारूप माना जाता है परंतु भारत देश में सबसे अधिक शिक्षित बेरोज़गार हैं। युवा इस समस्या के समाधान के लिए कई बार प्रशासन से मांग कर चुके हैं और कर रहे हैं, लेकिन ऐसा प्रतीत होता है की प्रशासन के लिए यह तो एक आम बात हो चुकी है।

इसी दौरान शिक्षा के महत्तव को समझाने और शिक्षा संबन्धित समस्याओं को कम करने के लिए प्रशासन ने “ परीक्षा पर चर्चा” एक लाइव इंटरएक्शन कार्यक्रम शुरू किया है। इस कार्यक्रम के दौरान देश भर के छात्रों, अभिभावकों, शिक्षकों से बात – चीत की जाती है और इस दौरान छात्रों को तनावमुक्त होकर परीक्षा देना, छात्रों के उत्साह को बढ़ाना, इसके अलावा अभिभावकों और शिक्षकों को छात्रों के बेहतर प्रदर्शन और शिक्षा के किए सही सलाह दी जाती है। हालाकी यह कार्यक्रम आवश्यक और सही भी है, अपितु सोचने वाली बात यह है कि अगर प्रशासन पहले से शिक्षित युवाओं को रोजगार नहीं दे सकती तो आने वाले समय में और आने वाले शिक्षित युवाओं के लिए रोजगार किस प्रकार उपलब्ध कराएगी।

परीक्षा पर चर्चा आवश्यक है अपितु रोजगार पर चर्चा आवश्यक और जरूरी भी है। क्यूंकि रोज़गार के माध्यम से व्यक्ति अपने घर वालों का भरण – पोषण करता है और इसी के माध्यम से अपने बच्चों को शिक्षित भी कर सकता है। इसी विषय के उपलक्ष्य में युवा हल्ला बोल के संयोजक अनुपम जी ने भी इस विषय पर बात की और प्रशासन को बेरोजगारी जैसी समस्या को दूर करने के बारें में कहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here