लुधियाना नगर निगम चुनाव में 95 में से 62 वॉर्ड पर कांग्रेस की जीत, केजरीवाल की AAP पार्टी का सिर्फ 1 कैंडिडेट जीता

निगम चुनाव के नतीजों में बीजेपी-अकाली दल को सिर्फ 21, कांग्रेस 62, एलआईपी 7 और आप को सीट मिली हैं

749

लुधियाना। देश में केजरीवाल की आम आदमी पार्टी के लिए इन दिनों में कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है। जहां एक तरफ तो दिल्ली में आप पार्टी की सत्ता है, वहीं पार्टी के विधायक मुख्य सचिव के साथ मारपीट के आरोप में गिरफ्तार हो रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ चुनावों में भी आम आदमी पार्टी की किस्मत खराब चल रही है।

24 फरवरी को हुआ था मतदान…

आपको बता दें कि लुधियाना नगर निगम के 95 वार्ड्स पर 24 फरवरी को वोटिंग हुई थी। इस चुनाव में 494 उम्मीदवारों ने अपनी किस्मत आजमाई थी। अकाली दल और बीजेपी ने मिलकर क्रमश: 48-47 प्रत्याशी मैदान में उतारे थे, वहीं एलआईपी और आप ने मिलकर 56-39 प्रत्याशी उतारे थे। वार्ड नंबर 44 के पोलिंग बूथ 2 और 3 में बोगस वोटिंग के कारण सोमवार को दोबारा चुनाव हुए थे। चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक, 24 फरवरी को करीब 60 फीसदी वोटरों ने मतदान किया था।

39 में से 1 ही वॉर्ड पर AAP की हुई जीत…

लुधियाना नगर निगम की 95 सीटों पर 24 फरवरी को मतदान हुआ था और आम आदमी पार्टी ने नवनिर्मित ‘एलआईपी’ के साथ समझोता कर 39 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे। इसमें से 56 सीटों पर एलआईपी के कैंडिडेट चुनाव लड़े थे, जिनमें एलआईपी 7 वार्ड्स जीतने में कामयाब रही।
बता दें कि एलआईपी और आप ने मिलकर नगर निगम चुनाव लड़ा था। इस चुनाव में चार निर्दलीय प्रत्याशियों ने भी जीत हासिल की।

मंगलवार को आये नतीजे केजरीवाल की आम आदमी पार्टी के लिए काफी निराशा भरे रहे। यहां पर आम आदमी पार्टी के 39 उम्मीदवारों में से सिर्फ 1 ही उम्मीदवार को जीत नसीब हो पाई है।

AAP के बलविंदर कौर जीते… 

आम आदमी पार्टी की तरफ से बलविंदर कौर ने वॉर्ड नंबर 11 पर कांग्रेस प्रत्याशी को सिर्फ 11 हजार वोटों के लम्बे अंतराल से हराया है। यही एकमात्र सीट है जहां पर AAP जीत नसीब हो हुई है। आप पार्टी ने 39 सीटों पर अपने कैंडिडेट उतारे थे।

कांग्रेस ने बीजेपी-अकाली दल को पछाड़ा…

पिछले साल पंजाब विधानसभा चुनाव 2017 में पूर्ण बहुमत हासिल कर सत्ता में आई कांग्रेस पार्टी ने एक बार फिर से यहां हुए नगर निगम के चुनावों में शानदार प्रदर्शन किया है। कांग्रेस पार्टी ने 95 वॉर्ड में से 62 वॉर्डों पर जीत दर्ज की है तो वहीं बीजेपी-अकाली दल गठबंधन की 21 वॉर्ड पर जीत हुई है। जिनमें से 10 वॉर्ड पर बीजेपी के उम्मीदवार तो वहीं 11 वॉर्ड पर अकाली दल के उम्मीदवार जीते हैं। और पंजाब असेंबली में विपक्ष का प्रतिनिधित्व कर आम आदमी पार्टी सबसे ज्यादा फिसड्डी रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here