नहीं हूं उत्तर भारतीयों के खिलाफ, बयान पर नहीं मांगूंगा माफी: मंत्री विजय सरदेसाई

उत्तर भारतीय पर्यटकों को धरती की गंदगी बताने वाले गोवा सरकार में शहरी और देश नियोजन मंत्री विजय सरदेसाई ने चारों तरफ आलोचना होने के बावजूद भी अपने बयान को लेकर माफी मांगने या खेद जताने से साफ इनकार कर दिया है।

842

पणजी। उत्तर भारतीय पर्यटकों को धरती की गंदगी बताने वाले गोवा सरकार में शहरी और देश नियोजन मंत्री विजय सरदेसाई ने चारों तरफ आलोचना होने के बावजूद भी अपने बयान को लेकर माफी मांगने या खेद जताने से साफ इनकार कर दिया है। उन्होंने साफ कहा है कि वह अपने बयान के किसी भी हिस्से को वापस नहीं लेंगे। सरदेसाई ने इस बात पर जोर दिया कि वह उत्तर भारतीयों या फिर गोवा आने वाले पर्यटकों के खिलाफ नहीं हैं और उनके बयान को इस तरह नहीं देखा जाना चाहिए।
सरदेसाई ने कहा कि अपनी भावनाएं जाहिर करने को लेकर माफी मांगने का उनका कोई इरादा नहीं है। उत्तर भारतीयों के बारे में विजय ने कहा था कि यह पर्यटक गोवा को हरियाणा बनाना चाहते हैं। गोवा बिज फेस्ट में बात करते हुए विजय ने कहा था, ‘आज गोवा की आबादी पर्यटकों के रूप में लगभग छह गुना है। ये पर्यटक धरती पर गंदगी हैं।’
अपने संबोधन में विजय ने उत्तरी भारत पर्यटकों को भारी बाढ़ जैसा बताया था और कहा था कि हम गोवा को दूसरा गुरुग्राम नहीं बनने देना चाहते। मंत्री ने कहा था, ‘गोवा में आज जो भी समस्या है उसके लिए उत्तर भारतीय राज्य जिम्मेदार हैं। इन राज्यों से आने वाले लोग वास्तव में गोवा को हरियाणा बनाना चाहते हैं।’ विजय ने इसके लिए घरेलू पर्यटन पॉलिसी की आलोचना करते हुए कड़ा कानून बनाने की जरूरत पर जोर दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here