कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों की मुहिम रहेगी जारी।

386

कोविड जैसी महामारी ने सम्पूर्ण देश को प्रभावित कर रखा है, प्रतिदिन यह संक्रमण बढ़ता जा रहा है। इसके बावजूद भी तीन नए कृषि कानून के खिलाफ किसानों का धरना दिल्ली, यूपी और पंजाब के बार्डर पर जारी रहेगा। इसके अलावा यह मुहिम डिजिटल प्लैटफ़ार्म, ट्विटर पर # किसान आंदोलन जारी रहेगा और # मोदी खेती कानून वापस लो के साथ जारी है। किसान संघ मोर्चा और किसान नेताओं के अनुसार जब तक केंद्र सरकार इन तीन कानूनों को वापस नहीं लेती है, तब तक यह प्रदर्शन जारी रहेगा।

धरना दे रहे किसान नेताओं का कहना है की “सरकार कोरोना का डर दिखाकर इस आंदोलन को रोक नहीं सकती है, हम डटे हुए थे और डटे रहेंगे”। किसान नेताओं का यह भी कहना है की यह अब हमारा गाँव है और सरकार गाँव के लोगों को भगा नहीं सकती है और यहाँ रहते हुए प्रदर्शन जारी रखेंगे। किसान संघ मोर्चा और किसान नेताओं का कहना है की यह आंदोलन कोविड नियमों का पालन करते हुए जारी रखा जाएगा। बता दे की यह प्रदर्शन बीते वर्ष नवंबर माह से जारी है। इस आंदोलन के कारण दिल्ली, यूपी, पंजाब के विभिन्न आवागमन के क्षेत्र प्रभावित हैं।

वर्तमान स्थित को ध्यान में रखते हुए भारतीय सरकार की कोशिश है की इस आंदोलन को समाप्त किया जाये क्यूंकी आंदोलन के कारण अधिक से अधिक लोग महामारी से संक्रमित हो सकते हैं और इससे वे अन्य कई लोगों को संक्रमित कर सकते हैं। बता दें, उत्तर प्रदेश, पंजाब, दिल्ली उन राज्यों की लिस्ट में शामिल है, जहां कोविड संबन्धित सबसे अधिक एक्टिव केसेस हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here